एल-आर्जीनाइन के फायदे और उपयोग क्या है ? | L-Arginine Uses in Hindi

जैसे ही आप जिम जाना शुरू करते है, कुछ दिनों तक अच्छी एक्सरसाइज करने के बाद आपको सप्लीमेंट्स के बारें में जानकारी मिलने लगती हैं। उन्हीं सप्लीमेंट्स में L-Arginine का नाम भी शामिल होता हैं।

L-Arginine Uses in Hindi

जिम शुरू करने के बाद ट्रेनर या डायटीशियन द्वारा आपको कुछ सप्लीमेंट्स बताये जाते है जो आपकी स्ट्रेंथ बढ़ाने, सहनशीलता बढ़ाने, पावर बढ़ाने, परफॉर्मेंस बढ़ाने, मसल मास को बढ़ाने और फैट लॉस करने में मदद करते हैं।

वहीं एल-आर्जीनाइन एक बहुत ही लोकप्रीय सप्लीमेंट है जिसका उपयोग खासकर बॉडीबिल्डर्स, मसलमैन, एथलीट और फिटनेस फ्रिक्स द्वारा किया जाता हैं।

आपने भी इस सप्लीमेंट के बारें में सुना ही होगा लेकिन एल-आर्जीनाइन क्या है, इसके उपयोग, फायदे और नुकसान आदि के बारें में आपको पूरी जानकारी नहीं मिल पायी होगी।

तो चलिए आज के इस आर्टिकल में L-Arginine के बारें में विस्तार से जानते हैं।

एल-आर्जीनाइन क्या है ? | L-Arginine Meaning in Hindi

आप एमिनो एसिड के बारें में तो जानते ही होंगे। हालांकि एल-आर्जीनाइन भी एमिनो एसिड से ही जुड़ा हुआ है, जो हमारें बॉडी के लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं।

L-Arginine एक नॉन एसेंशियल एमिनो एसिड है, जिसका निर्माण हमारी बॉडी में ही होता हैं। साधारण लोगों को इसे अलग से लेने की जरूरत नहीं होती है, लेकिन जो लोग वर्कआउट या एक्सरसाइज करते है, वह लोग इसे हम फूड या सप्लीमेंट के माध्यम से ले सकते हैं।

सामान्यतः यह बॉडी में प्रोटीन बनाने का काम करता है और धमनियों में रक्त प्रवाह को बढ़ाने में मदद करता है और ब्लड प्रेशर को समायोजित करता हैं।

L-Arginine यह एक कंडीशनल एमिनो एसिड भी होता हैं। इसका उपयोग जरूरत पड़ने पर बीमारी और तनाव जैसी समस्याओं को दूर करने के लिए भी किया जाता है, इसलिए इसे कंडीशनल एमिनो एसिड की श्रेणी में रखा गया हैं।

L-Arginine में ‘L’ का मतलब Levorotatory होता है और ‘Arginine’ एक नॉन एसेंशियल एमिनो एसिड होता हैं। आमतौर पर आर्जीनाइन और एल-आर्जीनाइन को एक ही माना जाता हैं।

एल-आर्जीनाइन के उपयोग क्या है ? | L-Arginine Uses in Hindi

यह एक बहुत ही लोकप्रीय सप्लीमेंट है, जिसे खासकर बॉडी बिल्डर्स और फिटनेस फ्रिक्स द्वारा इस्तेमाल किया जाता हैं। इसके साथ ही चिकित्सा के क्षेत्र में भी इसका उपयोग किया जाता हैं। हालांकि L-Arginine के उपयोग तो बहुत सारे हैं। जैसे –

(1) शरीर मे रक्त प्रवाह (Blood Flow) को बढ़ाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता हैं।

(2) एल-आर्जीनाइन का उपयोग मसल बिल्डिंग में भी किया जाता है, जो प्रोटीन के बिल्डिंग ब्लॉक के रूप में कार्य करता हैं।

(3) इसका इस्तेमाल बॉडी पेन और चेस्ट पेन (Angina) को दूर करने के लिए किया जाता हैं।

(4) इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसी समस्या के निवारण में इसका उपयोग किया जाता हैं।

(5) बॉडीबिल्डर्स और फिटनेस फ्रिक्स द्वारा वैस्क्युलरिटी (नसों का बाहर दिखना) को बढ़ाने में L-Arginine का उपयोग किया जाता हैं।

(6) नाइट्रिक ऑक्साइड के प्रोडक्शन और ब्लड प्रेशर को सुधारने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता हैं।

(7) इसका उपयोग माईग्रेन और तनाव जैसी समस्याओं को दूर करने में किया जाता हैं।

एल-आर्जीनाइन काम कैसे करता है ? | How Works L-Arginine in Hindi

अब बात आती है कि, यह काम कैसे करता हैं। इसके कार्य करने की प्रक्रिया बहुत ही सिंपल हैं। L-Arginine बॉडी में जाने के बाद नाइट्रिक ऑक्साइड (NO) में परिवर्तित हो जाता हैं।

इसके बाद यह नाइट्रिक ऑक्साइड रक्त वाहिकाओं और धमनियों को पूरी तरह खोलकर रक्त प्रवाह को बेहतर बनाता है और ब्लड फ्लो को बढ़ाता है, जिससे रक्त तेजी से बॉडी के सभी भागों में ट्रेवल करने लगता है और बॉडी पूरी तरह एक्टिव हो जाती हैं।

यदि आप इसे एक्सरसाइज से पहले या एक्सरसाइज के दौरान लेते है तो यह एल-आर्जीनाइन बॉडी को वर्कआउट के प्रति उत्तेजित करता है और रक्त के साथ आपके मसल तक सही न्यूट्रिशन पहुंचाने का काम भी करता हैं।

इसके साथ ही यह बॉडी में ग्रोथ हॉर्मोन और इन्सुलिन को रिलीज करता है और शरीर मे उत्तेजना पैदा करता हैं। नाइट्रिक ऑक्साइड का मुख्य कार्य ब्लड वेसल्स को पूरी तरह खोलना और नसों को रिलैक्स करना होता है, जिससे बॉडी में ब्लड फ्लो अच्छी तरह बना रहता हैं।

एल-आर्जीनाइन के फायदे क्या है ? | L-Arginine Benefits in Hindi

वैसे तो Arginine एक गैर जरूरी एमिनो एसिड होता है, लेकिन वर्कआउट करने वाले लोगों के लिए इसका इस्तेमाल करना बहुत ही महत्वपूर्ण होता हैं।

इसके साथ ही बीमारियों और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के निवारण में एल-आर्जीनाइन का इस्तेमाल करना बहुत ही फायदेमंद होता हैं।

तो चलिए कुछ पॉइंट्स की मदद से L-Arginine के इस्तेमाल से होने वाले फायदे क्या है यह जानते हैं।

(1) ग्रोथ हॉर्मोन को रिलीज करने में मदद करता हैं।

(2) हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता हैं।

(3) हृदय संबंधी समस्याओं का निवारण करने में सहायक होता हैं।

(4) नसों में खून के प्रवाह को तेज करता हैं।

(5) पुरुषों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या को दूर करने में सहायता करता हैं।

(6) ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करता हैं।

(7) Anxiety और Depression जैसी समस्याओं को दूर करने के सहायता करता हैं।

(8) क्लोटिंग या घावों को जल्दी से भरने में मदद करता हैं।

(9) हार्ट और किडनी फंक्शनिंग को बेहतर बनाता हैं।

(10) एक्सरसाइज के दौरान परफॉर्मेंस को बेहतर बनाने में मदद करता हैं।

(11) बॉडी में वस्क्युलरिटी को बढ़ाने में सहायक होता हैं।

(12) हमारी बॉडी में इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मदद करता हैं।

(13) मस्क्युलर पंप को बढ़ाने में यह मदद करता है, जिससे मसल साइज अच्छा दिखता हैं।

इसप्रकार L-Arginine को फूड या सप्लीमेंट के रूप में इस्तेमाल करने से स्वास्थ्य संबंधी बहुत से लाभ मिलते हैं। ध्यान रहें, इसका इस्तेमाल फिटनेस एक्सपर्ट या डॉक्टर्स की सलाह पर ही करना चाहिए।

आवश्यकता से अधिक और बिना जाने इसका सेवन करना नुकसानदायक साबित हो सकता हैं।

एल-आर्जीनाइन के नुकसान क्या है ? | L-Arginine Side Effects in Hindi

यदि आप एलर्जीक प्रवृत्ति के है या पेट से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्याओं से जूझ रहे है, तब इसका सेवन करना आपके लिए हानिकारक हो सकता हैं।

इसके अलावा अधिक मात्रा (ओवरडोज) या गलत ढंग से L-Arginine का सेवन करना स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को पैदा कर सकता हैं। जैसे –

  • ब्लोटिंग
  • पेट वाले भाग में दर्द (Abdominal Pain)
  • डायरिया
  • ब्लड प्रेशर का कम होना
  • एलर्जी
  • अस्थमा
  • संधिवात (Gout)

एल-आर्जीनाइन कब लेना चाहिए ? | Best Time To Take L-Arginine in Hindi

अब बात आती है इसे कब इस्तेमाल करना चाहिए, जो कि सबसे ज्यादा प्रभावी हो सकें। तो L-Arginine को वर्कआउट शुरू करने से पहले, मतलब प्री वर्कआउट में इस्तेमाल करना सबसे फायदेमंद माना जाता हैं।

वर्कआउट से पहले इसे लेने से यह बॉडी में रक्त संचार को बढ़ाकर वर्कआउट के प्रति बॉडी को उत्तेजित करता हैं। इसके साथ ही यह मसल को सही न्यूट्रिशन पहुंचता है और मसल्स की रिकवरी में भी हेल्प करता हैं।

इसके अलावा कुछ बॉडीबिल्डर्स इसे वर्कआउट के बाद और सोने से पहले भी इस्तेमाल करते है, जिससे ग्रोथ हॉर्मोन विकसित होने की संभावना बढ़ जाती है और बॉडी का विकास अच्छी तरह होता हैं।

यदि आप वर्कआउट नहीं करते है और ED या अन्य किसी स्वास्थ्य समस्याओं के निवारण में L-Arginine का इस्तेमाल करना चाहते है, तो आप डॉक्टर्स की सलाह पर इसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

एल-आर्जीनाइन कैसे लेना चाहिए ? | How To Use L-Arginine in Hindi

इसका इस्तेमाल करना बहुत ही आसान होता है क्योंकि यह कैप्सूल्स के फॉर्म में उपलब्ध होता हैं।

बेस्ट रिजल्ट्स प्राप्त करने के लिए L-Arginine की एक सर्विंग (2 कैप्सूल) को वर्कआउट शुरू करने से 30 मिनट पहले लेना चाहिए।

इसे पानी, जूस, प्रोटीन शेक, मिल्क शेक आदि के साथ लिया जा सकता हैं। लेकिन पानी के साथ लेना सबसे ज्यादा इफेक्टिव माना जाता हैं।

अधिकांश सप्लीमेंट ब्रांड्स द्वारा L-Arginine की सर्विंग साइज 2 कैप्सूल्स निर्धारित की जाती है, जिसमें 1 ग्राम तक आर्जीनाइन मौजूद होता हैं।

यदि आप प्री वर्कआउट में इसे लेते है, तो आपको 2 कैप्सूल्स (1 ग्राम) लेना चाहिए और यदि वर्कआउट के बाद या सोने से पहले लेते है, तो आपको 1 कैप्सूल (500 मिलीग्राम) लेना चाहिए।

यद्यपि आप वर्कआउट नहीं करते है और किसी बीमारी के निवारण में इसका इस्तेमाल करने की सोच रहे है, तब आपको किसी डॉक्टर या फिजिशियन की सलाह लेकर इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

एल-आर्जीनाइन का इस्तेमाल कौन-कौन कर सकता है ? | Who Can Use L-Arginine in Hindi

इसका इस्तेमाल जिम जाने वाले लोग, एथलीट, फिटनेस फ्रिक्स, लीन बॉडी वाले लोग, फिटनेस एन्थुसिएस्ट, बॉडीबिल्डर्स और वर्कआउट करने वाले लोग आदि आसानी से कर सकते हैं।

इसे महिला और पुरुष दोनों ही इस्तेमाल कर सकते हैं। ध्यान रहें, इसे बच्चों के सेवन करने से दूर रखना चाहिए।

क्या एल-आर्जीनाइन का सेवन करना सुरक्षित है ? | L-Arginine Is Safe or Not in Hindi

रिसर्च और विश्लेषण के आधार पर एल-आर्जीनाइन का सेवन सुरक्षित माना गया हैं। सीमित मात्रा और उचित ढंग से सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं।

अधिक समय तक इसका इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। आप इसका इस्तेमाल फिटनेस गोल्स को प्राप्त करने के लिए कुछ महीनों तक कर सकते हैं।

इसका लगातार सेवन कभी भी नही करना चाहिए। कुछ दिनों तक इस्तेमाल करने के बाद बंद कर सकते है और फिर से जरूरत के हिसाब से शुरू कर सकते हैं।

छोटे बच्चों, प्रेग्नेंट महिला और किसी बीमारी से ग्रसित महिलाओं द्वारा इसका इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।

एल-आर्जीनाइन से भरपूर फूड कौन से है ? | L-Arginine Foods in Hindi

वैसे तो हमारी बॉडी को इसकी अलग से लेने की जरूरत नही पड़ती है, लेकिन वर्कआउट करने वाले लोगों के लिए इसका इस्तेमाल करना बहुत महत्वपूर्ण होता हैं।

इसे सप्लीमेंट के द्वारा भी लिया जा सकता है और कुछ फूड्स ऐसे होते है जिनमें L-Arginine की मात्रा भरपूर होती हैं। जैसे –

  • मटन (Red Meat)
  • मछली
  • चिकन
  • ड्राई फ्रूट्स
  • किडनी बीन्स
  • मूंगफली
  • ग्रीन वेजिटेबल
  • डेयरी प्रोडक्ट्स
  • सोयाबीन
  • व्होल ग्रेन्स

Final Words : L-Arginine का सप्लीमेंट के रूप में सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होता हैं। यह आपको वर्कआउट संबंधी फायदे भी प्रदान करता हैं।

इसके अलावा स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए भी इसका इस्तेमाल करना बहुत ही अच्छा और फायदेमंद माना जाता हैं।

Other Articles :

Share करें !

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *