Fitness

क्या Abs Workout डेली करना चाहिए ?

क्या Abs Workout डेली करना चाहिए : आजकल हर कोई युवा, चाहें महिला हो या पुरुष हो, एब्स बनाने की चाहत रखते हैं। और क्यो नहीं रखेंगे यार, एब्स बनाना तो हर किसी की पसन्द होती हैं।

Abs Workout Daily Or Not

आपकी बॉडी में सिक्स पैक एब्स ऐसा मसल ग्रुप होता है जिसे बिल्ड करना सबसे कठिन काम माना जाता हैं। Six Pack Abs बनाना कोई आसान काम नहीं होता हैं।

आपको बता दें, Six Pack Abs बनाना मुश्किल जरूर है, परन्तु नामुमकिन नहीं हैं। यदि आप कड़ी मेहनत और लगन से एब्स बनाने के लिए वर्कआउट करते है तो बेशक आप Abs बना सकते हैं।

मैंने बहुत सारे लोगों को जिम में देखा है जो Abs बनाने के लिए पागल हो जाते है और कुछ भी करने को तैयार होते हैं। उनमें से कुछ लोग तो सिर्फ Abs को ही ट्रेन करते हैं।

कुछ लोग तो डेली Abs Workout करते हैं। उन्हें पता ही नहीं होता है कि मसल्स को रेस्ट और रिकवरी की भी जरूरत होती हैं। फिर भी वह लगातार ट्रेन करते जाते है क्योंकि उन्हें जल्दी एब्स बनाने होते हैं।

उन्हें यह भी पता नहीं होता है कि एब्स को सप्ताह में कितनी बार ट्रेन करना हैं। वे यह सोचते है कि, जितना ज्यादा वर्कआउट करेंगे उतने ही जल्दी Abs बन जाएंगे।

अगर आप भी बिना जानें हर दिन Abs वर्कआउट करते है तो यह आपके बॉडी पर बुरा प्रभाव डाल सकता हैं।

अब आपके मन में और भी सवाल आ रहे होंगे कि Abs वर्कआउट कितनी बार करना चाहिए और डेली करने से क्या होता है, फायदे या फिर नुकसान क्या हैं।

तो चलिए जानते है, क्या Abs Workout डेली करना चाहिए और डेली Six Pack Abs Workout करने से क्या होता हैं।

Abs Workout डेली करना चाहिए या नहीं ? 

सिक्स पैक एब्स वर्कआउट डेली करना चाहिए या नहीं, इसका जवाब है – नहीं। आपको बिल्कुल भी Abs Workout हर दिन नहीं करना चाहिए।

Abs Workout ही नहीं, इसके अलावा किसी भी मसल ग्रुप का वर्कआउट डेली नहीं करना चाहिए। आपको किसी भी मसल ग्रुप को हर दिन ट्रेन करने की कोई भी जरूरत नहीं होती हैं।

एक अमेरिकन शोध ने यह साबित कर दिया है कि यदि आप किसी भी मसल ग्रुप का वर्कआउट हर दिन करते है तो आपके मसल्स कमजोर पड़ने लगते हैं। इसके पीछे कारण यह है कि, डेली एक ही एक मसल को ट्रेन करने से उस मसल को रिकवर होने के लिए समय नहीं मिल पाता हैं।

और एक समय के बाद आपके मसल्स ग्रुप पूरी तरह थक जाते है और मसल्स का विकास होना रुक जाता हैं।

नोट – यहां पर ‘ट्रेन करना’ मतलब ‘वर्कआउट करना’ हैं।

Abs Workout डेली क्यो नहीं करना चाहिए ?

जी हां दोस्तों, Abs Workout हर दिन नहीं करना चाहिए और ना ही किसी भी अन्य मसल को हर दिन ट्रेन करना चाहिए।

आपको बता दें, स्पोर्ट्स साइंस यह कहता है कि आपके मसल को पर्याप्त आराम की बेहद जरूरत होती हैं। यदि आज आप किसी भी मसल को ट्रेन करते है और अगली बार जब उसी मसल को ट्रेन करेंगे तो इन दोनो वर्कआउट के बीच 48 घंटो का गैप होना चाहिए।

इसका सीधा मतलब यह है कि, आपने आज Abs वर्कआउट किया है तो आपको अगले 48 घन्टो तक Abs मसल ग्रुप को पर्याप्त आराम देना हैं।

इस आराम के बाद आप दोबारा Abs Muscle का वर्कआउट कर सकते हैं। यदि आप अपने मसल्स को पर्याप्त आराम नहीं देंगे तो एक समय ऐसा भी आएगा कि आपके मसल्स कमजोर होने लगेंगे और आप किसी गम्भीर समस्या में पड़ जाएंगे।

डेली Abs Workout करने के नुकसान

  • हर दिन एब्स वर्कआउट करने से आपके Abdominal मसल्स कमजोर होते हैं।
  • इससे आपके मसल फाइबर्स की रिकवरी नहीं हो पाती है, जिससे मसल्स की ग्रोथ रुक जाती हैं।
  • डेली Abs लगाने से कोर मसल को आराम नहीं मिल पाता है, जिससे मसल्स में दर्द बना रहता हैं।
  • प्रतिदिन सिक्स पैक एब्स वर्कआउट करने से कुछ दिनों तक तो आपको कोई समस्या नहीं आती है परंतु लगातार ऐसा करने से कुछ समय बाद आपके Abs Muscle में Cramps आने लगते है जो इंज्यूरी का कारण बन सकते हैं।
  • इससे आपकी Core की स्ट्रेंथ में कमी आती हैं। इसलिए क्योंकि, मसल रिकवरी सही ढंग से नहीं हो पाती हैं।
  • हर दिन एब्स लगाने से कई मामलों में पेट दर्द, पाचन क्रिया का कमजोर होना आदि समस्याएं पैदा हो सकती हैं।
  • प्रतिदिन Abs Workout करने से आपकी बॉडी की ओवरऑल परफॉर्मेंस में भी कमी आ सकती है और आप कमजोर पड़ सकते हैं।

इसप्रकार हर दिन Abs Workout करने या डेली एब्स लगाने से कई सारे नुकसान और समस्याओं का सामना आपको करना पड़ सकता हैं।

क्या Abs Workout आल्टरनेट डे (एक दिन छोड़कर) कर सकते हैं ?

एब्स वर्कआउट आल्टरनेट डे कर सकते हैं क्या, इसका जवाब है – हां। आप एक दिन छोड़कर, अगले दिन Abs Workout कर सकते हैं।

ऐसा करने से आपके मसल्स को पर्याप्त आराम (48 Hours Rest) भी मिल जाएगा, जिससे मसल्स की रिकवरी भी बेहतर होगी।

अल्टरनेट डे Abs Workout करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता हैं। यदि आप ऐसा करते है तो आप जल्दी ही Six Pack Abs बना सकते हैं। यदि आपके Abs बने हुए है, तो आप इसे और बेहतर बना सकते हैं।

एक दिन छोड़कर Abs लगाने से मसल्स को पर्याप्त आराम मिल जाता है और आगे आने वाली चुनौतीयों के लिए मसल्स अच्छी तरह तैयार होती हैं।

यह भी पढ़ें – वेट ट्रेनिंग के बाद कार्डिओ क्यो करना चाहिए ?

एक सप्ताह (Week) में कितनी बार Abs Workout करना चाहिए ?

यह सवाल सबसे ज्यादा पूछा जाता है कि एक हफ्ते में कितनी बार Abs Workout करना चाहिए या कर सकते हैं। तो दोस्तों इसका जवाब है – दो से तीन बार।

आप Abs Workout सप्ताह में 2 से 3 बार कर सकते हैं। यदि आप दो बार करते है तो बहुत अच्छी बात है, यह आपके कोर मसल्स के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं।

यदि आप Abs बनाने की रेस में है, तो आप एक हफ्ते में तीन बार भी अपने एब्स को ट्रेन कर सकते हैं। यह भी आपके लिए फायदेमंद हैं।

ध्यान रहें, अगर आप हफ्ते में 2 या 3 बार भी Abs Muscle को ट्रेन करते है तो हर वर्कआउट के बीच में 48 घन्टो का समय होना चाहिए।

साथ ही साथ आपको एब्स मसल या किसी भी अन्य मसल ग्रुप को एक Week में 3 से ज्यादा बार ट्रेन नहीं करना हैं। यदि आप इससे अधिक बार ट्रेन करते है, तो इसके दुष्परिणाम आपको देखने को मिल सकते हैं।

एब्स बनाने के लिए बेस्ट एक्सरसाइज 

(1) क्रंचेस (Crunches)

महिला और पुरुष दोनों के सिक्स पैक एब्स के लिए बहुत ही अच्छी और फायदेमंद एक्सरसाइज होती हैं। इस एक्सरसाइज को आप आसानी से कही पर भी कर सकते हैं।

क्रंचेस एक्सरसाइज आपके एब्डॉमिनल के सबसे ऊपरी भाग (Upper Abs) को सबसे ज्यादा टारगेट करती हैं।

इसके साथ ही आपके Rectus Abdominis को एक अच्छा शेप देने के लिए Crunches एक्सरसाइज करना बहुत ही फायदेमंद और बेहतर होता हैं।

इस एक्सरसाइज के आपको टोटल 4 सेट करने है और हर एक सेट में 15 रेप्स करने हैं। हर सेट के बीच 1 से 2 मिनट का रेस्ट भी लेना जरूरी हैं।

(2) लेग रेज (Leg Raises)

सिक्स पैक Abs बनाने के लिए यह भी बहुत ही अच्छी और आसान सी एक्सरसाइज हैं। इसके साथ ही यह बहुत ही इफेक्टिव एक्सरसाइज भी हैं।

लेग रेज एक्सरसाइज आपके Lower Abs को सबसे ज्यादा टारगेट करती हैं। यह एक बेसिक एब्डॉमिनल एक्सरसाइज है और इसे करना भी आसान हैं।

लोवर एब्स के साथ-साथ यह एक्सरसाइज भी आपके पूरे Abs मसल ग्रुप को ट्रेन करने के लिए फायदेमंद होती हैं।

इस एक्सरसाइज की मदद से आप आसनी से पेट की चर्बी को कम कर सकते है और Abs को विजिबल कर सकते हैं।

Leg Raises एक्सरसाइज के आपको टोटल 4 सेट करने है और हर एक सेट में 15 रेप्स करने हैं। इसके साथ ही हर सेट के बीच आपको 1 से 2 मिनट का रेस्ट भी लेना जरूरी हैं।

(3) रशियन ट्विस्ट (Russian Twist)

यह एक ऐसी एक्सरसाइज है जो आपके ऑब्लिक मसल (Oblique) को टारगेट करती हैं। इसका मतलब यह आपके साइड एब्डॉमिनल को ट्रेन करने के लिए की जाती हैं।

Russian Twist एक्सरसाइज से आपके बैली से फैट कम होता है और सिक्स पैक एब्स बनाने में मदद मिलती हैं।

यह एक्सरसाइज भी आपके Abs को एक अच्छा शेप देने के लिए बहुत ही ज्यादा उपयोगी और फायदेमंद होती हैं।

रसियन ट्विस्ट एक्सरसाइज के आपको टोटल 4 सेट लगाने है और हर एक सेट में 20 रेप्स लगाने हैं। और हर सेट के बीच आपको 1 से 2 मिनट का रेस्ट भी लेना जरूरी हैं।

आपको इस एक्सरसाइज के 15 रेप्स प्रत्येक साइड के लगाने हैं। इसलिए क्योंकि इस एक्सरसाइज में ट्विस्टिंग मोमेंट होता है तो आपको हर एक साइड कोर मसल को ट्विस्ट करना होता हैं।

(4) माउंटेन क्लाईम्बर (Mountain Climbers)

यह बहुत ही लोकप्रिय एक्सरसाइज है और इसे अधिकांश लोग करना पसंद करते हैं। इसलिए क्योंकि यह आपके पूरे एब्डॉमिनल मसल को टारगेट करने के ली की जाती हैं।

इस एक्सरसाइज की मदद से आप Upper, Lower, Oblique सभी एब्स मसल्स को ट्रेन कर सकते हैं।

इसके साथ ही यह आपके पेट की चर्बी (Belly Fat) कम करने के लिए सबसे अच्छी एक्सरसाइज मानी जाती हैं। और इस एक्सरसाइज को करना भी बहुत आसान होता हैं।

इस एक्सरसाइज के निरंतर अभ्यास से आपको बहुत जल्द ही परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

Mountain Climbers एक्सरसाइज के आपको टोटल 4 सेट लगाने है और हर एक सेट में 15 रेप्स लगाने हैं। इसके साथ ही हर सेट के बीच आपको 1 से 2 मिनट का रेस्ट भी लेना जरूरी हैं।

इस एक्सरसाइज को आप समय सेट करके भी लगा सकते हैं। हर सेट में आपको इसे 30 से 45 सेकेंड तक करना हैं।

(5) प्लैंक (Plank)

यह भी सिक्स पैक एब्स कर लिए बहुत ही फायदेमंद एक्सरसाइज होती है और अक्सर इसे लोग पूरे वर्कआउट के अंत में लगाना पसंद करते हैं।

Plank एक्सरसाइज को वर्कआउट सेशन के अंत में लगाना ही सबसे ज्यादा फायदेमंद होता हैं।

प्लैंक एक्सरसाइज आपके कोर मसल या पुरे Abs Muscle Group की स्टेबिलिटी को बढ़ाती है और आपके पेट वाले भाग को मजबूत बनाती हैं।

इसके साथ ही यह आपके बॉडी स्ट्रेंथ को भी बढ़ाती है और सम्पूर्ण बॉडी के पोस्चर को सुधारने में मदद करती हैं।

प्लैंक एक्सरसाइज के आपको टोटल 4 सेट लगाने है और हर एक सेट को आपको कम से कम 45 सेकेंड्स तक करना हैं। इसके साथ ही हर सेट के बीच आपको 1 से 2 मिनट का रेस्ट भी लेना जरूरी हैं।

हर सेट में आपको अपने बॉडी को अधिक से अधिक समय तक प्लैंक पोजीशन में होल्ड करके रखना हैं।

नोट – यहाँ पर बतायी गयी सभी एक्सरसाइज, बेसिक एक्सरसाइज हैं। इन एक्सरसाइज को मेन और वीमेन दोनों आसानी से कर सकते हैं। 

निष्कर्ष – इसप्रकार आपको सभी बातों का ध्यान रखना हैं। वर्कआउट के साथ-साथ आपको न्यूट्रिशन भी बेहतर रखना हैं। यदि आप संतुलित आहार के साथ अच्छा वर्कआउट करते है तो बेशक जल्द ही आप Six Pack Abs बना सकते हैं।

आपको इस बात का भी विशेष ध्यान रखना है कि, वर्कआउट पूरी फॉर्म और तकनीक के साथ करना है जिससे कि वर्कआउट के दौरान किसी भी प्रकार की इंज्यूरी ना हो।

मैंने यहां पर आपको सभी चीजों के बारे में स्पष्टतः बताने का प्रयास किया है कि क्या Abs Workout डेली करना चाहिए या नहीं और हफ्ते में कितनी बार करना चाहिए आदि।

उम्मीद है, आपको यह पोस्ट ( क्या Abs Workout डेली करना चाहिए ) पसन्द आयी होगी। पसन्द आयी है तो इस पोस्ट को Share जरूर करें।

यदि आपके कोई भी सवाल या सुझाव है तो नीचे Comment करके जरूर बताएं और साथ में यह भी बतायें कि यह पोस्ट आपको कैसी लगी। धन्यवाद !!!

Other Articles :

 

Share with your friends...

One Comment

  1. Aapki post to mujhe bhot achi lagi
    Lekin mujhe aapse ek sawal puchna hai.
    Aapne kha ki Abs ki exercise week me 3 baar kare to baaki exercise kitni baar kare .

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button