व्हे प्रोटीन क्या होता है – फायदे और नुकसान | Whey Protein Powder Meaning in Hindi

यदि आप जिम जाते है, तो आपको पता ही होगा व्हे प्रोटीन पाउडर क्या होता है और इसे क्यों इस्तेमाल किया जाता हैं। लेकिन जो बिगिनर्स होते है, उन्हें इसके बारें में बहुत कम पता होता हैं। उन्हें सिर्फ इतना पता होता है कि एक विशेष प्रकार का पाउडर होता है, जिसे जिम जाने पर हमें उपयोग करना पड़ता है, जिससे बॉडी बनती हैं।

WHEY प्रोटीन क्या है

बिगिनर्स के अलावा भी कुछ लोग ऐसे होते है, जिन्हें प्रोटीन पाउडर के बारें जानकारी बिल्कुल नहीं होती हैं।

इसके अलावा कुछ लोगो को इसके बारें में पता होता है परन्तु वह लोग इसकी सही जानकारी को नहीं जानते हैं। उन्हें कही से यह गलत जानकारी मिल जाती है कि पाउडर खाकर बनाई हुई बॉडी अधिक समय तक नही टिकती हैं। इसके अलावा इससे किडनी और लीवर भी खराब हो जाते हैं।

आपको बता दें, प्रोटीन पाउडर कोई केमिकल नहीं हैं। यह खाद्य पदार्थों का ही एक रूप है, जिसे सप्लीमेंट कहा जाता हैं। Protein Powder बहुत से प्रकार के होते हैं। जिसमें से यहां पर हम WHEY प्रोटीन की बात करने वाले हैं।

यह Whey Protein के बारें में एक विस्तृत आर्टिकल हैं। व्हे प्रोटीन क्या है (Whey Protein in Hindi), कैसे बनता है , प्रकार, व्हे प्रोटीन के फायदे-नुकसान और इससे जुड़े सभी सवालों के जवाब आपको यहां पर मिलने वाले हैं।

WHEY प्रोटीन क्या होता है ? | Whey Protein Powder Meaning in Hindi

व्हेय प्रोटीन दूध से बना हुआ एक सूखा पाउडर होता हैं। यह दूध में पाए जाने वाले प्रोटीन का शुद्धतम रूप (Pure Form) होता हैं। यह सबसे जल्दी पचने वाला प्रोटीन भी होता हैं।

यह एक विशेष प्रकार का फूड सप्लीमेंट होता हैं। इसे ‘Complete Protein’ भी कहा जाता है क्योंकि इसमें सभी प्रकार एमिनो एसिड्स और पोषक तत्व मौजूद होते है जो आपकी बॉडी के लिए आवश्यक होते हैं।

दूध में दो प्रकार के प्रोटीन उपस्थित होते है, पहला ‘केसिन’ और दूसरा ‘व्हेय’। सम्पूर्ण दूध में Casein Protein की मात्रा 80% होती है, वहीं बची हुई 20% मात्रा Whey Protein की होती हैं।

Whey Protein बहुत ही उच्च गुणवत्ता का प्रोटीन होता हैं। दूध में से ठोस पदार्थों को अलग करके जो तरल बचता है, उसी का रूप होता हैं। जिसे आम भाषा में मट्ठा कहा जाता हैं। व्हेय का हिंदी में अर्थ (Whey Meaning in Hindi) – मट्ठा या छाछ होता हैं।

इसी मट्ठे को प्रोसेस करके व्हेय प्रोटीन बनाया जाता है, इसलिए इसे ‘मट्ठा प्रोटीन’ भी कहते हैं। यह पूर्णतः शाकाहारी सप्लीमेंट होता हैं।

नोट – सप्लीमेंट का मतलब ‘पूरक आहार’ होता हैं।

WHEY प्रोटीन कैसे बनता है ? | Whey Protein Powder Making Process in Hindi

अब जानते है, आखिर Whey Protein कैसे बनता हैं। आमतौर पर व्हेय प्रोटीन को मैन्युफैक्चरिंग प्लांट्स में बनाया जाता हैं। जहां पर गाय के दूध को संग्रहित करके प्रोसेस किया जाता हैं।

व्हेय प्रोटीन बनाने की प्रोसेस में सबसे पहले दूध को एक निश्चित तापमान पर गर्म किया जाता है, जिससे इसमें पाए जाने वाले हानिकारक बैक्टिरिया नष्ट हो जाते हैं।

इसके बाद दूध को ठंडा कर लिया जाता हैं। अब व्हेय प्रोटीन बनाने की प्रक्रिया शुरू होती हैं। अब दूध को दही में परवर्तित किया जाता हैं।

दही में परिवर्तित होने के बाद इसके ठोस पदार्थों (कार्ब्स, फैट्स, लेक्टोज आदि) को अलग कर लिया जाता है, जो Cheese (पनीर) के रूप में अलग हो जाता हैं।

Cheese को अलग करने के बाद जो बचा हुआ तरल पदार्थ (Liquid) होता है, वही व्हेय या Whey Protein कहलाता हैं। यह व्हेय प्रोटीन शुद्ध रूप में होता हैं।

अब इस लिक्विड (Whey) को अलग निकालकर सूखा लिया जाता है और सूखने के बाद इसे पाउडर के रूप में परिवर्तित कर दिया जाता हैं।

शुरुआत में Whey प्रोटीन का कोई स्वाद नहीं होता हैं। यह बेस्वाद और पचाने के लिए मुश्किल माना जाता हैं।

इसके बाद इसमें कुछ पाचक एंजाइम्स, फ्लेवर्स और स्वीटनर्स मिलाए जाते है और इसे संसाधित किया (Process) किया जाता हैं। जिसके फलस्वरूप इसके स्वाद और अन्य गुणों में थोड़ा परिवर्तन आ जाता हैं।

इन चीजों को मिलाने से व्हेय प्रोटीन में पायी जाने वाली कुछ कमियां दूर हो जाती है और इसकी उपयुक्त प्रोफाइल बनकर तैयार हो जाती हैं।

अब Whey प्रोटीन पाउडर को माइक्रो-फिल्ट्रेशन और आयन-एक्सचेंज जैसी प्रोसेस से गुजारा जाता है और ज्यादा से ज्यादा प्रोसेस किया जाता हैं।

इसप्रकार Whey Protein बनता है और इसके बाद इसे अलग-अलग प्रकार के डिब्बों या बैग्स में पैक कर दिया जाता है और आप लोगों तक पहुंचाया जाता हैं।

WHEY प्रोटीन के प्रकार | Whey Protein Types in Hindi

Whey Protein Powder मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं।

(1) व्हेय प्रोटीन कंसन्ट्रेट (Concentrate) :

दूध से प्रोटीन बनाने की प्रोसेस में सबसे पहले प्राप्त होने वाला प्रोटीन, Whey Protein Concentrate कहलाता हैं।

एक निश्चित तापमान पर एसिड या एंजाइम का उपयोग करके इसे बनाया जाता हैं। इसमें 60% से 80% प्रोटीन की मात्रा होती है और शेष बची हुई 20% से 40% मात्रा फैट और कार्बोहाइड्रेट की होती हैं।

(2) व्हेय प्रोटीन आईसोलेट (Isolate) :

कंसन्ट्रेट प्रोटीन को एक अतिरिक्त फिल्ट्रेशन प्रोसेस से गुजारा जाता है, जिसके फलस्वरूप Whey Protein Isolate प्राप्त होता हैं।

यह फिल्ट्रेशन प्रोसेस फैट और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा को हटा देती है और और एक विशेष प्रोटीन तैयार होता हैं।

यह व्हेय प्रोटीन का शुद्ध रूप कहलाता हैं। इसमें 90% से 95% प्रोटीन की मात्रा मौजूद होती है और इसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत कम या न के बराबर होती हैं।

व्हेय प्रोटीन आईसोलेट यह कंसन्ट्रेट प्रोटीन की तुलना में थोड़ा महंगा होता हैं।

(3) व्हेय प्रोटीन हाइड्रोलिसेट (Hydrolysate) :

आईसोलेट प्रोटीन को कुछ एंजाइम्स और एसिड्स के साथ गर्म किया जाता हैं। इस प्रोसेस में एमिनो एसिड्स के बीच बंधन को तोड़ा जाता हैं।

एमिनो एसिड्स के बीच बंधन टूटने से इस प्रोटीन के अवशोषण दर (Absorption) बढ़ जाती हैं।

Whey Protein Hydrolysate में प्रोटीन की मात्रा 100% होती हैं। इसमें कार्बोहाइड्रेट और फैट की मात्रा शून्य होती हैं। यह व्हेय प्रोटीन का सबसे अच्छा और अधिक गुणवत्ता वाला प्रकार होता हैं।

Summary – व्हेय प्रोटीन पाउडर के यह मुख्य तीन रूप होते है, जिन्हें अलग-अलग प्रक्रिया द्वारा बनाया जाता हैं। यह तीनों प्रकार के प्रोटीन पाउडर आपके लिए उपयुक्त हैं। आप इन तीनो में से किसी भी प्रकार के प्रोटीन का इस्तेमाल कर सकते हैं। Whey Protein आपके लिए बहुत ही फायदेमंद सप्लीमेंट होता हैं।

WHEY प्रोटीन के उपयोग | Whey Protein Uses in Hindi

Whey Protein Supplement के उपयोग की बात करे तो इसका मुख्य रूप से इस्तेमाल जिम जाने वाले लोग, सामान्य एक्सरसाइज करने वाले, एथलीट या स्पोर्ट पर्सन, बॉडीबिल्डर्स आदि करते हैं।

आजकल इसका उपयोग महिला या पुरूष दोनों करने लगे है और यह दोनों के लिए समान रूप से लाभदायक होता हैं।

व्हेय प्रोटीन का उपयोग अधिकांश लोग वर्कआउट के बाद करते है और कुछ लोग वर्कआउट के पहले करते हैं। इसके अलावा कुछ लोग इसे सुबह के समय ब्रेकफास्ट में इस्तेमाल करते हैं।

इसका उपयोग शरीर में प्रोटीन की जरूरत को पूरा करने के लिए किया जाता हैं। अधिकांश लोग जैसे- जिम जाने वाले लोग और बॉडीबिल्डर्स इसका इस्तेमाल मसल्स ग्रोथ या मसल्स अतिवृद्धि के लिए करते हैं।

WHEY प्रोटीन के फायदे | Whey Protein Benefits in Hindi

व्हेय प्रोटीन सप्लीमेंट का नियमित रूप से सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होता हैं। यदि आप जिम वर्कआउट या किसी भी एक्सरसाइज के साथ Whey Protein को जोड़ते है, तो बेशक यह आपके मसल्स ग्रोथ और मसल निर्माण में बहुत ज्यादा फायदेमंद होता हैं।

यहां पर हम कुछ पॉइंट्स की मदद से व्हेय प्रोटीन से होने वाले फायदों के बारें में जानेंगे। व्हे प्रोटीन के फायदे जैसे –

(1) Whey Protein सबसे उच्च क्वालिटी का प्रोटीन होता है और सबसे अच्छी बात यह है कि इसे दूध से बनाया जाता हैं।

(2) यह शुद्ध शाकाहारी सप्लीमेंट होता है और लस मुक्त (Gluten Free) होता हैं।

(3) व्हेय प्रोटीन का पाचन (Digestion) बहुत फास्ट होता है जिसके कारण यह बहुत तेजी से शरीर के सभी भागों में पहुंच जाता हैं।

(3) इसमें सभी Essential Amino Acids (जरूरी एमिनो अम्ल) और BCAA मौजूद होते है जो आपकी मसल रिकवरी को बेहतर बनाते हैं।

(4) इसका पाचन तेज होने के साथ-साथ Absorption भी बहुत फास्ट हैं। जिसके कारण यह आपकी मसल्स तक बहुत जल्द पहुंच जाता है और मसल ग्रोथ में मदद करता हैं।

(5) Whey Protein आपके Metabolism को बढ़ाता है और Instant Muscle Recovery को बढ़ावा देता हैं।

(6) यह सबसे शुद्ध और कम्पलीट प्रोटीन सोर्स होता है और आसानी से उपयोग में लाया जा सकता हैं।

(7) मसल्स की अतिवृद्धि (Hypertrophy) और मसल्स का साइज बढ़ाने में Whey Protein अहम भूमिका निभाता हैं।

(8) व्हेय प्रोटीन का उपयोग करके शरीर में होने वाली प्रोटीन की कमी को आसानी से दूर किया जा सकता हैं।

(9) इसे पानी, दूध या जूस आदि के साथ आसानी से लिया जा सकता हैं। इन सभी में इसकी मिक्सिबिलिटी (मिश्रण) भी अच्छी होती हैं।

(10) यह आपके फैट लॉस करने या वजन घटाने में सहायता करता हैं। Whey Protein के सेवन से मसल मास बढ़ता है और उस जगह से फैट लॉस होना शुरू हो जाता हैं।

यह भी पढ़ें – BCAA क्या हैं ? इसके फायदे और नुकसान 

इसप्रकार यदि आप व्हेय प्रोटीन का इस्तेमाल करते है तो यह आपको कई मायनो में फायदेमंद साबित होता हैं।

ध्यान रहें, आपको इसका उपयोग सीमित मात्रा में करना चाहिए तभी व्हे प्रोटीन के फायदे देखने को मिलते है, अन्यथा इसके दुष्प्रभाव भी देखने को मिल सकते हैं।

WHEY प्रोटीन के नुकसान | Whey Protein Side Effects in Hindi

आमतौर पर व्हेय प्रोटीन का सेवन करना फायदेमंद होता हैं। इसके इस्तेमाल से बहुत से लाभ होते हैं। अगर नुकसान की बात करे तो इसके कोई भी नुकसान नहीं हैं।

बशर्ते आपको इसका उपयोग आवश्यकतानुसार और सीमित मात्रा में करना चाहिए।

आवश्यकता से ज्यादा Whey प्रोटीन का इस्तेमाल करने से आपको स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता हैं।

साइंस आधारित बात की जाएं तो आजतक किसी भी शोध में यह साबित नहीं हुआ है कि, व्हेय प्रोटीन के इस्तेमाल से किसी भी प्रकार के साइड इफेक्ट्स होते हैं।

और वास्तव में इसके कोई साइड इफेक्ट्स और नुकसान या हानि नहीं हैं। ध्यान रहें आपको इसका इस्तेमाल सीमित मात्रा में करना चाहिए।

फिर भी आप में से बहुत सारे लोगों ने इसके साइड इफेक्ट्स के बारें में सुना होगा।

एक रिसर्च के अनुसार 100 लोगो को Whey Protein Powder का इस्तेमाल करने को कहा गया। उन्होंने इसका सीमित मात्रा में सेवन किया और 30 दिनों के बाद उनसे इसके सेवन के बारें में पूछा गया और इसके परिणाम पूछें गए।

उनमें से 90% लोगों को इससे कोई भी साइड इफेक्ट्स नही देखने को मिले बल्कि उन्हें इसके बहुत फायदे मिले। इसके साथ भी वह पूर्णतः स्वस्थ थे।

वही 10% लोगों को इसके सेवन से स्वास्थ्य संबंधी कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ा। उन्हें पेट संबंधी विकार और स्किन संबंधी समस्याओं का भी सामना करना पड़ा।

आपको बता दें, रिसर्च के अनुसार 90% लोग जो इसे इस्तेमाल करने के पहले से पूरी तरह स्वस्थ थे और 10% लोग जिन्हें इसके इस्तेमाल से दुष्प्रभाव देखने को मिले, वह पहले से किसी बीमारियों से ग्रसित थे।

इसीकारण उन्हें इसके उपयोग से साइड इफेक्ट्स देखने को मिले। इसप्रकार यदि आप पूरी तरह स्वस्थ है तो आपको इससे कोई भी हानि नहीं होगी।

यदि आप पहले से किसी बीमारी या समस्याओं से ग्रसित है तब आपको इसके सेवन से नुकसान हो सकते हैं। फिर भी आपको बता दें, किसी भी रीसर्च या स्टडी में इससे होने वाले नुकसान का प्रमाण नहीं हैं।

सीमित मात्रा में व्हेय प्रोटीन के सेवन से किसी भी प्रकार की किडनी और और लीवर से संबंधित समस्याएं उत्पन्न नहीं होती हैं। इसके भी शोध में अभी तक प्रमाण नहीं नहीं हैं। यह सभी गलत जानकारियां हैं।

यदि आपको किसी भी प्रकार की एलर्जी है या फिर आप अधिक मात्रा में Whey Protein का सेवन करते है तब आपको इससे होने वाली स्वास्थ्य संबंधित कुछ समस्याओं (अप्रमाणित) का सामना करना पड़ सकता हैं। व्हे प्रोटीन के साइड इफेक्ट्स जैसे-

  • पेट-दर्द (Stomach Pain)
  • ऐंठन (Cramps)
  • भूख कम लगना (Appetite Problem)
  • सिर-दर्द (Headache)
  • थकान (Fatigue)
  • मुहांसे (Acne)
  • जी मचलना (Nausea)
  • अनिद्रा (Insomnia)

यह भी पढ़ें – ग्लुटामिन के उपयोग, नुकसान और फायदे

WHEY प्रोटीन कब लेना चाहिए ? | Best Time To Take Whey Protein in Hindi

व्हेय प्रोटीन पाउडर का इस्तेमाल आप दिन के किसी भी समय कर सकते हैं। यह आपके डाइट का एक हिस्सा ही होता है जिसे आप अपने हिसाब से डाइट में शामिल कर सकते हैं।

लेकिन फिर भी Whey Protein कब लेना चाहिए, आप लोग इसका सबसे उपयुक्त समय जानना चाहते है तो आपको बता दें, Whey प्रोटीन लेने का सबसे सही समय – वर्कआउट के बाद (Post Workout) होता हैं।

अधिकांश फिटनेस एक्सपर्ट्स इसे वर्कआउट के बाद लेने की सलाह देते हैं। इसलिए क्योंकि वर्कआउट के बाद आपके मसल्स पूरी तरह ब्रेकडाउन हो जाते है और थक जाते हैं।

ऐसे में मसल्स को रिकवर करने के लिए प्रोटीन की सबसे ज्यादा जरूरत पड़ती हैं। यदि आप Whey Protein का इस्तेमाल वर्कआउट के बाद करते है तो यह काफी मायनों में सबसे ज्यादा फायदेमंद होता हैं।

इससे आपके मसल्स की रिकवरी अच्छे से होती हैं। जिसके फलस्वरूप मसल्स ग्रोथ भी होती है और साथ ही साथ आपके मसल्स में अतिवृद्धि (Hypertrophy) भी होती हैं।

यदि आप जिम करते है तब इसे वर्कआउट या एक्सरसाइज करने के बाद लेना सबसे सही माना जाता हैं। कुछ लोग इसे वर्कआउट के पहले भी लेते हैं। यह भी सही है, इससे कोई खास बदलाव देखने को नहीं मिलता हैं।

लेकिन यदि आप जिम नहीं जाते है और किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज नहीं करते है तब आप इसे सुबह ब्रेकफास्ट में ले सकते हैं। ऐसे में इसका सेवन सुबह के समय करना सबसे उचित माना जाता हैं।

सुबह के समय इसिलए क्योंकि इस समय आपकी बॉडी को कैलोरी की बहुत ज्यादा जरुरत होती हैं। ऐसे में यदि आप व्हेय प्रोटीन से इस कैलोरी की जरूरत को पुरा करते है तो इससे बेहतर क्या बात हो सकती हैं।

कार्बोहाइड्रेट या फैट से इस कैलोरी की जरूरत को पूरा करने से अच्छा है आप व्हेय प्रोटीन या प्रोटीन से भरपूर फूड्स से इसको पूरा करें। यह सबसे बेहतर ऑप्शन होता है यदि आप जिम नहीं जाते हैं।

आपको बता दें, वर्कआउट के साथ व्हेय प्रोटीन को जोड़ना सबसे लाभकारी होता है और इससे आपके मसल्स में बहुत अच्छी ग्रोथ होती हैं।

यदि आप वर्कआउट नहीं करते है तो शायद आपको इसके उचित परिणाम (Best Results) कम ही देखने को मिलेंगे। लेकिन इसका सेवन करना फायदेमंद जरूर है चाहें आप वर्कआउट करें या न करें।

यह भी पढ़ें – Whey vs Casein, कौनसा प्रोटीन अच्छा हैं ?

WHEY प्रोटीन कैसे लेना चाहिए ? | Best Way To Take Whey Protein in Hindi

व्हेय प्रोटीन का इस्तेमाल करने के लिए आपको परेशान होने या ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं हैं। लेकिन इसका इस्तेमाल डॉक्टर्स या ट्रेनर्स की सलाह पर करना सभी मायनों में अधिक फायदेमंद होता हैं।

इसका इस्तेमाल करना बहुत ही आसान होता हैं। इसे आप वर्कआउट के बाद या सुबह ब्रेकफास्ट में ले सकते हैं।

Whey Protein कैसे लेना चाहिए, इसे लेने का सबसे सही तरीका होता हैं – पानी के साथ मिलाकर
पानी में लेने से इसके सबसे अच्छे परिणाम देखने को मिलते हैं। इसलिए क्योंकि पानी में इसकी मिक्सिबिलिटी बहुत ही अच्छी होती हैं।

और पानी के साथ लेने पर Whey Protein का पाचन बहुत ही सरल हो जाता हैं।

बहुत से लोग इसे दूध या जूस के साथ लेना चाहते हैं। यह भी अच्छा तरीका है लेकिन पानी के साथ लेना सबसे बेहतर माना जाता हैं।

यदि आप Weight Gain या Muscle Gain करना चाहते है तब आप इसे दूध या जूस के साथ ले सकते हैं। ऐसे में यह आपके वजन बढ़ाने में बहुत ज्यादा मदद करेगा।

इसलिए क्योंकि व्हेय प्रोटीन से आपको प्रोटीन मिल जाएगा और दूध से आपको कार्बोहाइड्रेट और फैट्स मिल जाएंगे। जिसके फलस्वरूप आपको अधिक कैलोरी भी मिलेगी और यह एक सन्तुलित आहार बन जाएगा।

यदि आप Weight Loss या Fat Loss करना चाहते है तब आपको इसे पानी के साथ ही लेना चाहिए। क्योंकि इस स्थिति में आपको कैलोरी की अधिक जरूरत बिल्कुल भी नहीं होती है बल्कि आपको कैलोरी कम खानी होती है जिससे की आपका वजन कम हो सके।

Direction Of Uses – अधिकांश प्रोटीन सप्लीमेंट ब्रांड्स एक बार में 30 से 35 ग्राम Whey Protein लेने की सलाह देते है और एक बार में इतना प्रोटीन लेना बहुत सही होता हैं।

एक बार में जितना प्रोटीन लिया जाना चाहिए, उसे एक सर्विंग कहा जाता हैं। इसका मतलब इसकी एक सर्विंग में आपको 25 से 30 ग्राम प्रोटीन मिलता हैं।

इसके लिए प्रोटीन के डिब्बे या पैकेट में एक निर्धारित सर्विंग स्कूप दिया जाता है, जो 30-35 ग्राम सर्विंग साइज का होता हैं।

आपको एक शेकर लेना है और उसमें इस 1 स्कूप प्रोटीन पाउडर को 250 से 300 ML पानी के साथ मिला लेना हैं। 15 से 20 सेकंड तक शेक करने के बाद आपको इसे धीरे-धीरे पी लेना हैं।

इसे लेने का यह बहुत ही आसान और प्रभावी तरीका हैं। ध्यान रहें आपको इसकी ज्यादा मात्रा का सेवन नहीं करना हैं। इसकी सीमित मात्रा आपके लिए बहुत फायदेमंद होती हैं।

आपको एक बात और बता दें, कुछ प्रोटीन पाउडर पानी या दूध में अच्छी तरह मिक्स नहीं हो पाते है और कुछ प्रोटीन पाउडर शेक करने के दौरान अधिक झाग भी देतें हैं। जैसे – Raw Whey Protein 

तो इस बात की आपको कोई चिंता नहीं होनी चाहिए, यह नॉर्मल है और आपको इससे कोई हानि नहीं हैं। आप इसका सेवन बिना किसी परेशानी के आसानी से कर सकते हैं। 

WHEY Protein के बारें में बार-बार पूछे जाने वाले सवाल (FAQs) –

(1) एक्सरसाइज के कितने टाइम बाद व्हे प्रोटीन लेना चाहिए ?

Answer – एक्सरसाइज या वर्कआउट खतम होने के बाद, 20 से 30 मिनट के अंदर व्हे प्रोटीन ले लेना चाहिए।

(2) डेली कितना व्हे प्रोटीन लिया जा सकता हैं ?

Answer – यदि आप नॉर्मल एक्सरसाइज या वर्कआउट करते है तो प्रतिदिन 1 स्कूप व्हे प्रोटीन लेना सबसे अच्छा माना जाता हैं। इसके अलावा यदि आप बॉडीबिल्डिंग कर रहे है या आपके फिटनेस गोल्स थोड़े एडवांस है तब आप अपने ट्रेनर् या हेल्थ एक्सपर्ट की सलाह पर इसे बढ़ा भी सकते हैं।

(3) क्या व्हे प्रोटीन को दूध/जूस/शेक के साथ ले सकते हैं ?

Answer – जी हां, बिल्कुल ले सकते हैं। यदि आप वजन बढ़ाना चाहते है तो व्हे प्रोटीन को दूध/जूस/शेक के साथ लेना सबसे अधिक फायदेमंद होता हैं। दूध या जूस में लेने से कैलोरी बढ़ जाती है और वेट बढ़ाने में मदद मिलती हैं।

(4) क्या एक दिन में 2 स्कूप व्हे प्रोटीन ले सकते हैं ?

Answer – एक दिन में 2 स्कूप व्हे प्रोटीन लिया जा सकता हैं। शर्त यह है कि, आपको वर्कआउट थोड़ा हाई इंटेंसिटी और इफेक्टिव करना होगा। इसके साथ ही दोनों स्कूप को एक साथ नहीं लेना चाहिए। दिन के अलग-अलग समय पर एक-एक स्कूप लेना सही होता हैं। इससे ज्यादा प्रोटीन सप्लीमेंट का इस्तेमाल करना नुकसानदेह हो सकता हैं।

(5) क्या व्हे प्रोटीन शाकाहारी होते हैं ?

Answer – हां, व्हे प्रोटीन शाकाहारी (Vegetarian) होते है, क्योंकि इन्हे दूध से बनाया जाता हैं।

(6) क्या व्हे प्रोटीन को रात में सोने से पहले ले सकते हैं ?

Answer – जी हाँ, व्हे प्रोटीन को रात में सोने के पहले लिया जा सकता हैं। ध्यान रहें, रात का खाना और व्हे प्रोटीन पाउडर लेने के बीच कम से कम 2 घंटे का समयांतराल होना चाहिए।

(7) क्या व्हे प्रोटीन पाउडर को सुबह ब्रेकफास्ट में ले सकते हैं ?

Answer – जी हाँ, बिल्कुल ले सकते हैं। इसे सुबह खली पेट भी लिया जा सकता है और ब्रेकफास्ट के साथ भी लिया जा सकता हैं। जो लोग वजन कम करना चाहते है या फैट लॉस करना चाहते है, वे लोग इसे खाली पेट ले सकते हैं। इसके अलावा जो लोग मसल बिल्ड करना चाहते है, वे लोग व्हे प्रोटीन को ब्रेकफास्ट (ब्रेड, पराठा, ओट्स या शेक) के साथ ले सकते हैं।

निष्कर्ष – Whey Protein एक बहुत ही अच्छा और फायदेमंद सप्लीमेंट होता हैं। आपको इसका उपयोग सीमित मात्रा में करना चाहिए। अधिक मात्रा में इसका सेवन आपके लिए हानिकारक हो सकता हैं।

उम्मीद है, व्हे प्रोटीन क्या होता है (Whey Protein Powder Meaning in Hindi) और इसके फायदे-नुकसान आदि की विस्तृत जानकारी आपको सही और स्पष्टतः मिल गयी होगी। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ Share भी कर सकते हैं।

यदि आपके कोई भी सवाल/सुझाव है, तो नीचे Comment करके जरूर बताएं और साथ में यह भी बतायें कि यह पोस्ट आपको कैसी लगी। धन्यवाद !!!

Other Articles :

Share with your friends...

Leave a Reply