Fitness

लीन मास गेनर क्या है ? | Lean Mass Gainer Meaning in Hindi

क्या आप भी लीन मास गेनर के बारें में जानने की कोशिश कर रहे हैं ? यदि हां, तो आप इस आर्टिकल को अच्छी तरह पढ़ सकते हैं। इसलिए क्योंकि, यहां पर आपको लीन मास गेनर या मसल गेनर के बारें में पूरी जानकारी आसानी से मिलने वाली हैं।

Lean Mass Gainer in Hindi

आप लोग मास गेनर के बारें में तो अवश्य ही जानते होंगे। मास गेनर एक फूड सप्लीमेंट होता है, जिसका उपयोग वजन बढ़ाने के लिए किया जाता हैं।

ठीक उसी प्रकार लीन मास गेनर भी एक सप्लीमेंट होता है, जो आपके मसल मास और वजन दोनों को बढ़ाने में मदद करता हैं।

अधिकांश बॉडीबिल्डर्स और फिटनेस फ्रिक्स मसल मास बढ़ाने के लिए लीन मास गेनर का इस्तेमाल करते हैं। यदि आप भी मसल मास बढ़ाना चाहते है, तो इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। यह वजन और मसल मास दोनों को बढ़ाने में बहुत हेल्प करता हैं।

तो चलिए सीधा जानते है कि, आखिर यह लीन मास गेनर क्या होता है, इसे कब और कैसे इस्तेमाल करना चाहिए और इसके फायदे-नुकसान आदि क्या हैं।

लीन मास गेनर क्या होता है ? | Lean Mass Gainer in Hindi

यह एक प्रकार का फूड सप्लीमेंट होता है जिसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फैट, विटामिन और मिनेरल्स एक निश्चित अनुपात में मौजूद होते हैं।

सामान्य मास गेनर की तुलना में इसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम और प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है या प्रोटीन और कार्ब्स की मात्रा समान होती हैं। इसके साथ ही यह लीन मसल मास को प्रोत्साहन देता है, इसलिए इसे लीन मास गेनर कहा जाता हैं।

यह हाई कैलोरी फूड सप्लीमेंट पाउडर होता है, जिसे लीन मसल मास बिल्ड करने के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं। इसमें बहुत अधिक मात्रा में कैलोरी मौजूद होती है, जो आपके मसल मास को बढ़ाने में मदद करती हैं।

हालांकि वेट गेनर की तुलना में लीन गेनर में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है, जो आपके बॉडी में मसल मास को बढ़ावा देती हैं। इसे लीन मसल गेनर भी कहा जाता हैं।

अधिकांश लीन गेनर में प्रोटीन की मात्रा 55% और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा 45% होती है, जो लीन बॉडी बनाने के लिए प्रोटीन और कार्ब्स का बहुत ही अच्छा अनुपात भी होता हैं।

इसके अलावा कुछ लीन मास गेनर में प्रोटीन की मात्रा 40% और कार्ब्स की मात्रा 60% भी होती हैं। यहां पर प्रोटीन की मात्रा कम होने के बावजूद भी इसे लीन मास गेनर ही कहा जाता हैं। इसलिए क्योंकि, यह भी लीन मसल मास को ही प्रोत्साहन देते हैं।

लीन मास गेनर के फायदे | Lean Mass Gainer Benefits in Hindi

मसल बिल्डिंग और लीन मसल मास बढ़ाने के लिए लीन गेनर बहुत ही अच्छा सप्लीमेंट होता हैं। यह आपके दैनिक कैलोरी की जरूरत को पूरा करने के बेस्ट स्त्रोत होता हैं।

यदि आप किसी वजह से भोजन के माध्यम से कैलोरी इन्टेक को पूरा नहीं कर पाते है, तो इस लीन गेनर का इस्तेमाल करना आपके लिए लाभकारी हो सकता हैं।

इसके साथ ही लीन मास गेनर लेने के काफी सारे फायदे हैं। जैसे –

(1) कैलोरी से भरपूर होता हैं

(2) अधिक एनर्जी प्रदान करता हैं

(3) पोषक तत्वों की कमी को दूर करता हैं

(4) मसल बिल्डिंग में मदद करता हैं

(5) वजन बढ़ाने में मदद करता हैं

(5) शारीरिक कमजोरी को दूर करता हैं

(6) लीन मसल मास को बढ़ाता हैं

(7) परफॉर्मेंस और स्ट्रेंथ को बढ़ाने में मदद करता हैं

इसप्रकार आप सीमित मात्रा में लीन मास गेनर का इस्तेमाल करते है, तो बेशक आप अपना मसल मास बढ़ाने के साथ-साथ वजन भी बढ़ा सकते हैं। सामान्य मास गेनर की तुलना में इस लीन गेनर का इस्तेमाल करना काफी हद तक सही होता हैं।

यदि आप गलत ढंग या अधिक मात्रा में इसका सेवन करते है तो यह बॉडी के लिए नुकसानदेह हो सकता हैं।

लीन मास गेनर के नुकसान | Lean Mass Gainer Side Effects in Hindi

लीन गेनर के इस्तेमाल से आपको कुछ दुष्प्रभाव भी देखने को मिल सकते हैं। यह एक प्रकार का फूड सप्लीमेंट है, जो जरूरत के हिसाब से कुछ समय के लिए लिया जाता हैं।

कुछ लोग बहुत जल्दी मसल गेन करने के लिए इसका अधिक इस्तेमाल करने लगते है, जिसका विपरीत प्रभाव भी उन्हें देखने को मिल जाता हैं।

इसकी अधिक मात्रा लेने और गलत तरीके से सेवन करने पर आपको कुछ स्वास्थ्य समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता हैं। जैसे –

  • पाचन क्रिया कमजोर होना
  • भूख कम लगना
  • पेट की चर्बी बढ़ना
  • किडनी और लीवर से सम्बंधित समस्याएं
  • उल्टी-दस्त की समस्या
  • डायरिया
  • अनचाहा वजन बढ़ना
  • शुगर लेवल अनियंत्रित होना
  • स्किन संबंधित समस्याएं
  • तनावपूर्ण स्थिति पैदा होना

इस प्रकार की कुछ समस्याओं का सामना आपको करना पड़ सकता हैं। हालांकि, अभी तक इन सभी समस्याओं के बारें में किसी भी लीन गेनर सप्लीमेंट ब्रांड का कुछ भी कहना नहीं हैं।

अनुचित ढंग और अधिक मात्रा में सेवन करना ही इन समस्याओं को पैदा करता हैं।

लीन मास गेनर कब लेना चाहिए ? | Best Time To Take Lean Mass Gainer in Hindi

लीन मास गेनर को आप सुबह ब्रेकफास्ट में, एक्सरसाइज के बाद और रात में सोने से पहले इन तीनों समय पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

लेकिन लीन गेनर लेने का सबसे अच्छा और सही समय – एक्सरसाइज या वर्कआउट के बाद होता हैं। एक्सरसाइज करने के बाद हमारी अवशोषण दर (Absorption Rate) बहुत हाई होती हैं।

इसके अलावा एक्सरसाइज के बाद मसल्स ब्रेकडाउन हो जाते है और ग्लाइकोजन लेवल कम हो जाता हैं। इसलिए हमारें बॉडी को प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट की सख्त जरुरत होती हैं।

ऐसे में इस समय लीन गेनर लेने से इसमें मौजूद प्रोटीन का पाचन और अवशोषण दोनों बहुत तेजी से हो जाता है और प्रोटीन हमारें मसल्स तक बहुत जल्दी पहुंच जाता हैं। जिसके फलस्वरूप हमारें मसल्स की ग्रोथ अच्छी तरह होती हैं।

लीन मास गेनर कैसे लेना चाहिए ? | How To Take Lean Mass Gainer in Hindi

लीन गेनर लेने का सबसे अच्छा तरीका – पानी मे मिलाकर सेवन करना होता हैं। यदि आप इसके बेहतर परिणाम चाहते है, तो इसे पानी के साथ लेना ही बेहतर ऑप्शन होता हैं।

पानी मे यह अच्छी तरह मिक्स भी हो जाता हैं। पानी के साथ लेने से इसका पाचन भी सरल होता है और बहुत जल्दी यह डाईजेस्ट भी हो जाता हैं।

इसे इस्तेमाल करने के लिए लीन मास गेनर के एक स्टैंडर्ड स्कूप (1 Serving Size Scoop) पाउडर को 300-350 ml पानी में मिलाकर सेवन करना चाहिए।

ध्यान रहें, बेहतर परिणाम के लिए लीन मास गेनर का सेवन दिन में एक बार ही किया जाना चाहिए।

लीन मास गेनर किन-किन लोगों को इस्तेमाल करना चाहिए ? | Who Can Take Lean Mass Gainer in Hindi

अधिकांश लोग जो मसल गेन करना चाहते है और साथ ही साथ वजन भी बढ़ाना चाहते है, उनके लिए लीन मास गेनर का इस्तेमाल करना बहुत ही फायदेमंद होता हैं।

जैसे दुबले-पतले लोग या जिनका वजन बहुत ही कम है, वह लोग इस लीन गेनर का उपयोग कर सकते है और अपने मसल मास को आसानी से बढ़ा सकते हैं।

इसके इस्तेमाल से आप एक ही समय पर मसल मास और वजन बढ़ा सकते हैं। इसलिए क्योंकि, इसमें प्रोटीन ओर कार्बोहाइड्रेट का अनुपात बहुत ही अच्छा होता हैं।

इसके अलावा बॉडीबिल्डर्स और फिटनेस फ्रिक्स भी इसे अपने बलकिंग गोल्स के अनुसार इस्तेमाल कर सकते हैं।

लीन मास गेनर खरीदने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें | Things To Keep In Mind Before Buying Lean Gainer in Hindi 

इन दिनों मार्केट या ऑनलाइन शॉपिंग में बहुत से सप्लीमेंट उपलब्ध हैं। इन्ही सप्लीमेंट्स में मास गेनर और लीन मास गेनर भी मौजूद हैं। आपको बता दें, मास गेनर और लीन मास गेनर में काफी अंतर होता हैं। हालांकि इन दोनों ही पाउडर में पोषक तत्व एक जैसे ही मौजूद होते है, लेकिन पोषक तत्वों की मात्रा और अनुपात अलग-अलग होता हैं। बस इसी चीज का विशेष ध्यान सबसे पहले आपको रखना हैं।

मास गेनर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा उच्च होती है, वहीं लीन गेनर में प्रोटीन की मात्रा उच्च होती हैं। इसके अलावा कुछ लीन मास गेनर में प्रोटीन और कार्ब्स की मात्रा सामान (प्रोटीन-50% और कार्ब्स-50%) या प्रोटीन की मात्रा थोड़ी कम और कार्ब्स की थोड़ी सी ज्यादा (प्रोटीन-40% और कार्ब्स-60%) भी होती हैं।

इसलिए जब भी आप लीन मास गेनर ऑनलाइन या मार्केट से खरीदते है, तब आप इसके न्युट्रिशनल फैक्ट्स को जरूर चेक करें। यदि आप चेक नहीं करेंगे तो शायद आप मास गेनर ही खरीद लेंगे।

वैसे भी इंडिया में बहुत कम ब्रांड्स ही लीन मास गेनर बनाते है, इसलिए आप इस बात का अवश्य ध्यान रखें। एक बात और, आपको लीन गेनर ऑनलाइन ही खरीदना चाहिए, क्योंकि ऑनलाइन शॉपिंग में यह मार्केट की तुलना में काफी सस्ते प्राइस पर उपलब्ध हो जाते है और आपके काफी पैसे बचा सकते हैं।

Final Words : लीन मास गेनर सप्लीमेंट मसल मास को बढ़ाने में मदद करता है और आपके वजन को भी बढ़ने में हेल्प करता हैं। यदि आप इसका सेवन करते है तो बेशक यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता हैं।

ध्यान रहें, इसके इस्तेमाल के दौरान आपको अपनी डाइट को भी अच्छा रखना है, केवल इस सप्लीमेंट का उपयोग करके ही आप मसल मास नहीं बढ़ा सकते हैं।

उम्मीद है, लीन मास गेनर क्या है और इसके फायदे-नुकसान आदि के बारें में जानकारी आपको अच्छी तरह मिल गयी होगी। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ Share जरूर करें।

यदि आपके कोई भी सवाल या सुझाव है, तो नीचे Comment Box में जरूर बताएं। Thanks !!!

Best Lean Gainer To Buy…

Share with your friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button