Fitness

पीरियड में रनिंग करना चाहिए या नहीं, एक्सरसाइज करनी चाहिए या नहीं ?

पीरियड में रनिंग करना चाहिए या नहीं, यह सवाल महिलाओँ द्वारा अक्सर पूछा जाता हैं। हर स्त्री/महिला चाहती है, कि उनका बॉडी फिगर अच्छा दिखे और फिटनेस अच्छी दिखे, जिसके लिए आप नियमित रूप से एक्सरसाइज या वर्कआउट करते हैं। लेकिन नियमित एक्सरसाइज करने के बीच हर महीने पीरियड्स आ जाते है, जिस समय आपको असहनीय पीड़ा से गुजरना पड़ता हैं। ऐसे में एक्सरसाइज करना बहुत ही मुश्किल काम होता हैं।

Period running in Hindi

इस स्थिति में कुछ दिनों के लिए एक्सरसाइज नहीं कर पाने से आपकी फिटनेस पर इसका विपरीत प्रभाव पड़ सकता हैं। आप न चाहते हुए भी एक्सरसाइज करना बंद कर देते है, क्योंकि हालत ही कुछ ऐसी होती हैं।

आप में से बहुत सी महिलाएं फिर भी एक्सरसाइज करने के बारें में सोचती है, लेकिन कुछ मिथक और गलत जानकारियां उन्हें एक्सरसाइज करने से रोक लेती हैं।

बहुत से लोग आपको बोलते है कि पीरियड्स में एक्सरसाइज करने, जिम जाने, रनिंग करने से स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता हैं।

लेकिन आपको बता दें, यह सब मिथक और मिसकॉन्सेप्शन हैं। यह बातें निराधार है और पीरियड्स के दौरान एक्सरसाइज करने से किसी भी प्रकार की हानि नहीं होती हैं।

फिर भी आपके दिमाग मे और सवाल आने लगते है कि, पीरियड में जिम जाना चाहिए या नहीं, एक्सरसाइज करनी चाहिए या नहीं, योग करना चाहिए या नहीं, पीरियड में रनिंग करना चाहिए या नहीं आदि।

तो इस आर्टिकल में आपको इन सभी सवालों के जवाब आसानी से मिलने वाले हैं। इसके साथ ही पीरियड्स में कौन सी एक्सरसाइज करनी चाहिए और इसके फायदे क्या हो सकते है, इस टॉपिक पर भी पूरी जानकारी मिलने वाली हैं।

पीरियड में एक्सरसाइज करनी चाहिए या नहीं ?

अधिकांश महिलाएं और लड़कियां इस सवाल का जवाब जानने की कोशिश करती रहती है, लेकिन उन्हें इस सवाल का सबसे अच्छा जवाब नही मिल पाता हैं।

पीरियड्स में एक्सरसाइज करना चाहिए या नही, इसका जवाब है – जरूर करना चाहिए। आपको पीरियड्स के दिनों में भी एक्सरसाइज करना चाहिए। इन दिनों में एक्सरसाइज करने से आपका फिटनेस लेवल और सहनशीलता भी बढ़ती हैं।

जब आप एक्सरसाइज या वर्कआउट करते है तब आपकी बॉडी एंडोर्फिन नामक हॉर्मोन को रिलीज करती है, जिसके कारण आपका मूड ठीक होने लगता है और स्ट्रेस भी दूर होने लगता हैं।

ऐसा जरूरी नही है कि आपको अधिक तीव्रता वाला वर्कआउट करना चाहिए। आप अपनी स्थिति, इच्छा और मूड के अनुरूप एक्सरसाइज कर सकते है और बिल्कुल भी इच्छा न होने पर एक्सरसाइज नहीं करना भी उचित होता हैं।

पीरियड में जिम जाना चाहिए या नहीं ?

यह सवाल भी अक्सर जिम जाने वाली हर महिला का होता है कि, पीरियड्स के दिनों में जिम करना चाहिए या नहीं। तो इस सवाल का जवाब आपके खुद के ऊपर निर्भर करता है कि, आपको जिम करना है या नहीं।

अगर आप जिम जाना चाहते है और वर्कआउट करना चाहते है, तो आप आसानी से जिम वर्कआउट कर सकते हैं। ध्यान रहें, आपको अधिक तीव्रता (High Intensity) वाला वर्कआउट बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।

हाई इंटेंसिटी वाले वर्कआउट आपके पीरियड्स की पीड़ा को और अधिक बढ़ा सकते हैं। आप नॉर्मल, कम वजन उठाये जा सकने वाले वर्कआउट कर सकते हैं।

हाई स्पीड ट्रेडमील कार्डिओ, HIIT, कंपाउंड एक्सरसाइज और हैवी वेट लिफ्टिंग करने से पीड़ा बढ़ सकती हैं। इसलिए कम भार से अपर बॉडी का वर्कआउट करना फायदेमंद हो सकता है और पीरियड्स के दिनों में अपर बॉडी का वर्कआउट आसानी से किया जा सकता हैं।

पीरियड में कौन सी एक्सरसाइज करनी चाहिए ?

हालांकि, पीरियड्स के दिनों में वर्कआउट या एक्सरसाइज करना आसान काम नहीं होता हैं। वर्कआउट या एक्सरसाइज को गलत ढंग से करना इस समय होने वाले असहनीय दर्द, क्रेम्प्स और तनाव को बढ़ा भी सकते हैं।

पीरियड्स के पहले दो दिन बहुत ही असहनीय होते है और इस समय पर बहुत ही अजीब महसूस होता है, जिस कारण शारीरिक क्रियाएं भी प्रभवित हो जाती हैं।

ऐसे में आप अपने पसन्द और कम्फर्ट के हिसाब से हल्की एक्सरसाइज कर सकते है, जो आपके मूड को बेहतर बना सकती हैं।

यदि आप जिम जाना ही चाहते है या घर पर ही एक्सरसाइज करना चाहते है तो बेशक आप इन एक्सरसाइज को आसानी से कर सकते हैं। जैसे –

(1) ब्रिस्क वाकिंग
(2) पुश-अप्स
(3) पुल-अप्स
(4) शोल्डर प्रेस
(5) डम्बल कर्ल्स (बाइसेप्स के लिए)
(6) केबल पुशडाउन (ट्राइसेप्स के लिए)
(7) मशीन पेक फ्लाई (चेस्ट के लिए)
(8) योगा
(9) स्ट्रेचिंग

इन सभी एक्सरसाइज को आप पीरियड्स के दिनों में आसानी से कर सकते है, जो आपके लिए बहुत ही फायदेमंद हो सकती हैं।

पीरियड में एक्सरसाइज करने के फायदे | Exercise During Period Benefits in Hindi

आप जानते ही है, पीरियड्स के दौरान किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज करना कितना मुश्किल काम होता हैं। लेकिन फिर भी यदि आप एक्सरसाइज करते है, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं।

पीरियड्स के दौरान एक्सरसाइज करने के फायदे तो बहुत हैं। जैसे –

(1) पीरियड्स में एक्सरसाइज करने से मूड अच्छा और बेहतर रहता हैं।

(2) चिड़चिड़ापन और भय दूर करने के लिए एक्सरसाइज करना बहुत ही हेल्पफुल होती हैं।

(3) एक्सरसाइज के द्वारा पीरियड्स के असहनीय दर्द और पेट दर्द को कम किया जा सकता हैं।

(4) आपकी सहनशीलता और शारीरिक शाक्ति में बढ़ोत्तरी होती हैं। इसके साथ ही पीड़ा कम होती हैं।

(5) एक्सरसाइज करने से एंडोर्फिन हॉर्मोन अधिक मात्रा में स्त्रावित होने लगता है, जो खुशी का हॉर्मोन कहलाता हैं।

(6) पीरियड्स में एक्सरसाइज करने से अनचाहे तनाव से मुक्ति मिलती हैं।

(7) थकान और मूड स्विंग को दूर करने के लिए एक्सरसाइज करना फायदेमंद होता हैं।

(8) एक्सरसाइज करने से मुश्किल समय भी आसानी से निकल जाता है और फिटनेस भी बनी रहती हैं।

(9) पीरियड्स के समय एक्सरसाइज या वर्कआउट करने से हार्मोनल बैलेंस भी बेहतर होता हैं।

पीरियड में कौन सी एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए ?

पीरियड्स के दौरान हाई इंटेसिटी वर्कआउट, इंटेंस कार्डिओ, फास्ट रनिंग, कोर वर्कआउट, एब्स वर्कआउट, लेग्स वर्कआउट, जुम्बा, जम्पिंग एक्सरसाइज आदि किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज नहीं करना चाहिए।

यह सभी एक्सरसाइज आपको शारीरिक और मानसिक रूप से कष्ट दे सकती हैं। आपको किसी भी प्रकार की शरीर को उथल-पुथल करने वाली एक्सरसाइज बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए।

इसके अलावा लोअर बॉडी और पेट से सम्बंधित एक्सरसाइज भी नहीं करनी चाहिए, यह आपके पेट के दर्द और सिरदर्द को बढ़ा सकती हैं।

पीरियड में रनिंग करना चाहिए या नहीं ?

वैसे तो पीरियड्स के दिनों में लाइट एक्सरसाइज करना बहुत ही फायदेमंद माना जाता हैं। हालांकि आप रनिंग भी कर सकते है, लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि अधिक तेज गति से बिल्कुल भी नहीं दौड़ना चाहिए और न ही अधिक समय तक रनिंग करना चाहिए। 

पीरियड्स में रनिंग करने के लिए आप धीमी गति से अपनी इच्छा के अनुरूप धीमे-धीमे रनिंग कर सकते है, यह काफी लाभदायक हो सकता हैं।

वैसे मासिक धर्म के शुरुआती दिनों में 2 से 3 दिनों तक आपको रनिंग करने के बारें में ज्यादा सोचना नहीं चाहिए। यह अधिक पीड़ा वाला समय निकल जाने के बाद आप रनिंग करना शुरू कर सकते है, यह आपके लिए बहुत ही लाभदायक होता हैं। 

पीरियड में योगा करना चाहिए या नहीं, फायदेमंद या नुकसानदेह ?

महिलाओं को पीरियड्स के समय पेट में दर्द और क्रैम्प्स पड़ना आम समस्या है, परन्तु इस समस्या को काफी हद तक कम किया जा सकता हैं। पीरियड्स की इस समस्या को योग करके कम किया जा सकता हैं। 

इन दिनों पेट भरा हुआ या फूला हुआ महसूस होता है और पेट के निचले हिस्से में दर्द भी अधिक होता हैं। इसके साथ ही मूड स्विंग्स और चिड़चिड़ापन जैसी समस्या पैदा होने लगती हैं। ऐसे में योगा करने से बॉडी को अच्छा स्ट्रैच मिलता है और आपकी बॉडी रिलैक्स महसूस करती हैं।

योग करने से बॉडी में ब्लड फ्लो अच्छी तरह होने लगता है और शरीर के सभी अंग सक्रीय हो जाते है, जिससे तनाव और दर्द की समस्या दूर होती हैं।

इसके अलावा भी पीरियड्स के दौरान योग करने के बहुत से फायदे हैं। इसलिए पीरियड्स में योग जरूर करना चाहिए। 

Final Words – पीरियड्स में एक्सरसाइज करने से मूड अच्छा और बेहतर बना रहता हैं। इस दौरान आप हल्की रनिंग, लो इंटेंसिटी वर्कआउट, योगा आदि आसानी से कर सकते हैं। लेकिन यह बिल्कुल भी जरुरी नहीं है, कि आपको एक्सरसाइज करनी ही पड़ेगी। आप अपने परिस्थिति और मूड़ के अनुसार निर्णय ले सकते हैं। पीरियड्स के दौरान 2-3 दिन एक्सरसाइज नहीं करने से आपके फिटनेस पर कोई ज्यादा बुरा प्रभाव नहीं पड़ता हैं।

उम्मीद है, पीरियड में रनिंग करना चाहिए या नहीं, किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज करनी चाहिए या नहीं यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। यदि जानकारी अच्छी लगी है, तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ Share करना न भूले और ऐसे ही उपयोगी आर्टिकल के लिए हमारें ब्लॉग वेबसाइट ASHFITX से जुड़े रहें।

Other Articles :

Share with your friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button