मसल लॉस क्यो और कैसे होता है ? | Muscle Loss Reasons in Hindi

अक्सर देखा जाता है कि आप कुछ दिन वर्कआउट नहीं कर करते है, तो आपको अपना मसल साइज कम होता हुआ दिखाई देने लगता हैं। इसके साथ ही मसल्स में उभार की कमी और ढ़ीलापन दिखाई देने लगता हैं।

Muscle Loss Reasons in Hindi

आपको ऐसे प्रतीत होता है कि, आपका मसल लॉस हो रहा हैं। आप चिंतित होने लगते है और सोचने लगते है कि आखिर ये क्यो हो रहा है और कैसे हो रहा हैं।

ऐसा बहुत से कारणों से हो सकता हैं। केवल वर्कआउट नहीं करना इसका कारण नहीं हो सकता हैं। बहुत से लोग वर्कआउट करते है तब भी उन्हें ऐसा लगता है कि उनका मसल मास कम हो रहा हैं।

तो आज के इस आर्टिकल में हम यहीं जानेंगे कि मसल लॉस क्यो होता हैं, इसके कारण क्या हैं, यह कब और कैसे होता हैं।

मसल लॉस क्या है ? | What Is Muscle Loss in Hindi

आप में से कई लोगो इसके बारें में बिल्कुल भी पता नहीं होता हैं। आप लोग कभी-कभी वेट लॉस को सीधे तौर पर मसल लॉस समझने लगते हैं।

तो चलिए सबसे पहले बात करते है Muscle Loss क्या हैं।

मसल लॉस का सीधा मतलब Muscle Atrophy से है जिसका अर्थ मांसपेशियों का क्षय या बर्बाद होना हैं। मसल लॉस की स्थिति में आपके मसल फाइबर्स कमजोर हो जाते हैं।

Muscle Atrophy यह एक प्रकार का मसल्स का नुकसान है जो गतिहीनता और पोषक तत्वों की कमी के कारण हो सकता हैं। मसल लॉस यह मांसपेशियों की हानि होना भी हैं।

मांसपेशियों की हानि, मांसपेशियां कमजोर होना, साइज कम होना, मसल फाइबर्स की कमी होना ये सभी मसल लॉस के अंतर्गत आते है और मांसपेशियों की हानि से आपका वेट लॉस भी होता हैं।

यह भी पढ़ें – मसल बनाने के लिए 5 बेस्ट Whey Protein 

मसल लॉस क्यो होता हैं ? | Why Muscle Loss Happens in Hindi

दोस्तों, मसल लॉस कई वजहों से हो सकता हैं। आजकल लोगों की लाइफस्टाइल, खानपान, वर्कआउट नहीं करना, गतिहीन लाइफ की वजह से मसल लॉस की समस्या बढ़ रहीं हैं।

मसल लॉस होने की सबसे बड़ी वजह आपका पोषण हैं। अगर आपके खानपान में पोषक तत्वों की कमी है (मुख्यतः प्रोटीन की कमी) तो यह आपका मसल मास कम होने की सबसे बड़ी वजह हैं।

दूसरी वजह यह है कि आप कोई गतिविधि जैसे फिजिकल एक्टिविटी, एक्सरसाइज या वर्कआउट नहीं करते हैं। इसकी वजह से भी आपका मसल लॉस हो सकता हैं।

यह भी पढ़ें – BCA टेस्ट क्या होता हैं, पूरी जानकारी 

मसल लॉस कैसे होता हैं, इसके कारण | Muscle Loss Reasons in Hindi

मांसपेशियों के घटने या कमजोर होने के बहुत से कारण हो सकते हैं। आपकी कुछ गलतियों के कारण भी मसल लॉस हो सकता हैं। आपके द्वारा की गई ऐसी बहुत सी गलतियां होती है जो मसल लॉस का कारण बनती हैं।

मसल मास कम होने के दो मुख्य कारण फिजिकल एक्टिविटी की कमी और पोषण की कमी हैं।

इसके और भी कारण हो सकते है, तो चलिए कुछ पॉइंट्स की मदद से समझते है कि मसल लॉस कैसे होता हैं, इसके कारण क्या हैं।

(1) पोषण की कमी (Malnutrition) के कारण होता है मसल लॉस –

मसल लॉस का एक कारण यह भी है कि आपके डाइट में पोषक तत्वों की कमी होना। जैसा की आप जानते है, आपकी मसल में सबसे ज्यादा प्रोटीन मौजूद होता हैं।

प्रोटीन के साथ-साथ मसल्स को हेल्दी फैट्स, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, विटामिन एंड मिनेरल्स आदि की भी बहुत जरूरत होती हैं।

अगर आप एक Balanced Diet (जिसमें भरपूर मात्रा में पोषण मौजूद हो) नहीं लेते है तो यह आपके मसल लॉस का कारण बन सकता हैं।

यह भी पढ़ें – Raw Whey प्रोटीन के फायदे ही फायदे 

(2) तंत्रिका तंत्र संबंधी रोग (Neurological Diseases) के कारण होता है मसल साइज लॉस –

तंत्रिका तंत्र संबधी रोग से ग्रसित होने के कारण आपकी बॉडी अच्छी तरह किसी भी काम को नहीं कर पाती हैं। जिससे आपका स्केलेटल मसल मास प्रभावित होता हैं।

न्यूरोलॉजिकल बीमारी के कारण आपके मसल और माइंड का कनेक्शन भी अच्छे से नहीं बन पाता है, जिसके कारण मसल मास कम या लॉस होने लगता है।

(3) लंबे समय तक अस्पताल में भर्ती (Prolonged Hospitalization) रहने से होता है मसल मास कम –

लंबे समय तक बेड रेस्ट या फिर अस्पताल में भर्ती होने से आपकी फिजिकल एक्टिविटी शून्य हो जाती है, जिसके कारण आपके मसल्स पर कोई तनाव नहीं पड़ता हैं।

और मसल्स में तनाव न पड़ने के कारण वह कमजोर होने लगती है और एक समय के बाद Muscle Loss होना शुरू हो जाता हैं।

आपने शायद देखा भी होगा, यदि किसी की बॉडी बहुत अच्छी है और किसी इंज्यूरी के कारण उन्हें महीनों तक बेड रेस्ट करना पड़ता हैं। उस समय उनकी बॉडी कमजोर दिखने लगती है, इसलिये क्योंकि उनकी एक्टिविटी जीरो हो जाती है और मसल मास कम होने लगता हैं।

(4) तनाव (Stress) के कारण होता है मसल्स मास कम –

दोस्तों, तनाव एक ऐसी चीज है जो आपको शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार से नुकसान पहुंचा सकता हैं।

तनाव के कारण आप फोकस नहीं कर पाते है और आपकी कार्यात्मक शक्ति भी आपका सही ढंग से साथ नहीं दे पाती हैं।

ऐसे में तनाव आपकी लाइफस्टाइल को बिगाड़ देता है जो आपके मसल साइज कम होने या मसल मास घटने का कारण बनता हैं।

(5) वर्कआउट की कमी (Lack Of Workout) से होता है मसल मास लॉस –

आजकल की व्यस्त जीवनशैली में आप अपने वर्कआउट या एक्सरसाइज के लिए बिल्कुल भी टाइम नहीं निकाल पाते हैं। क्या आप जानते है, बिना वर्कआउट के मसल मास को बनाएं रखना कितना कठिन हो सकता हैं।

अगर आप किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज नहीं करते है तो आपके मसल्स पर कोई भी रेजिस्टेंस या तनाव नहीं पड़ता हैं। यदि आपने पहले कभी जिम नहीं की है तो आपको शायद अपने मसल मास का अंदाजा नहीं लगेगा।

परंतु यदि आपने जिम में वर्कआउट किया है और कुछ दिनों से वर्कआउट करना बन्द कर दिया है तब आपको अपने मसल मास का अंदाजा जरूर लग जाता हैं।

वर्कआउट न करने या बंद कर देने के कुछ दिनों बाद आपके मसल से सबसे पहले ग्लाइकोजन कम होता है, उसके बाद फैट कम होने लगता है और उसके बाद एक स्थिति ऐसी आती है जब आपका मसल लॉस होना शुरू हो जाता हैं।

(6) अत्यधिक दौड़ और कार्डिओ (More Cardio and Running) के कारण मसल साइज कम होता है –

आवश्यता से अधिक कार्डिओ करने या रनिंग करने से बहुत ज्यादा कैलोरी बर्न होती हैं। ऐसे में यदि आपका प्रोटीन इन्टेक कम होता है तो आपका मसल साइज कम होने लगता हैं।

इसलिए क्योंकि आपकी बॉडी को फ्यूल की अधिक से अधिक जरूरत होती है और अधिक कार्डिओ या रनिंग करने से आपकी बॉडी से ग्लूकोज लेवल बहुत कम हो जाता हैं।

ग्लूकोज कम होने से बॉडी में एनर्जी प्रोडक्शन के लिए फैट और मसल ही बचते हैं। ऐसे में यदि आप नियमित आवश्यकता से अधिक Cardio या Running करते है तो आपका Muscle Loss शुरू हो जाता हैं।

(7) आराम की कमी (Lack Of Rest) से मसल लॉस होता है –

अगर आप नियमित काम करते है और बॉडी को बहुत कम आराम देते है तो यह बॉडी के लिए सही संकेत नहीं हैं।

यदि आप वर्कआउट करते हैं और बॉडी को अच्छा रेस्ट नहीं दे पाते है तो आपके मसल्स रिकवर नहीं हो पाते हैं। और यदि ऐसा ही महीनों तक चलता रहा तो यह मसल Loss का कारण भी बनता हैं।

पर्याप्त आराम नहीं मिलने के कारण आप तनावग्रस्त हो सकते है और हार्मोनल Imbalance का खतरा भी बन सकता हैं। जिसके कारण भी मसल मास कम होता हैं।

(8) गलत आदतें (Wrong Habits) मसल लॉस को बढ़ाती है –

आपको पता ही हैं बुरी आदतें जैसे- स्मोंकिंग, अल्कोहल, जंक फूड आदि से आपके शरीर पर बुरा असर पड़ता हैं।

ये सभी चीजें कही ना कही आपके मसल मास को भी प्रभावित करती हैं।

अब तो आप जान ही चुके है कि मसल लॉस क्यो होता हैं और इसके कारण क्या हैं। अब जानते है, इसे कैसे रोक सकते हैं।

मसल लॉस को कैसे रोकें ? | How To Stop Muscle Loss in Hindi

अगर आपका मसल लॉस हो रहा है, आपको इसके संकेत मिल रहे है तो आपको ज्यादा कुछ करने की खास जरूरत नहीं हैं। आपको केवल और केवल अपनी लाइफस्टाइल सुधारने की जरूरत हैं। Muscle Loss को रोकने के उपाय तो बहुत सारे हो सकते है, लेकिन यहां पर तीन मुख्य पॉइंट्स पर ही आपको ध्यान देना हैं।  

(1) मसल लॉस को राकने के लिए अच्छा वर्कआउट करें –

अगर Muscle Loss को रोकना है तो आपको अपने बॉडी पार्ट्स को अच्छे से ट्रेन करना पड़ेगा।

यदि आप नियमित वर्कआउट करते है और उसके साथ में अच्छा पोषण लेते है तो बेशक आपका किसी भी प्रकार से मसल मास ड्रॉप नहीं होगा।

ध्यान रहें, आपको बॉडी के सभी पार्ट्स को सही ढंग और तकनीक के साथ ट्रेन करना हैं।

(2) मसल मास लॉस रोकना है तो हेल्दी डाइट को फॉलो करें –

किसी भी मामले में आपकी डाइट का महत्वपूर्ण रोल होता हैं। चाहें वजन घटना या बढ़ाना हो आपको एक बेहतरीन डाइट को फॉलो करना होता हैं।

ठीक उसीप्रकार यदि आपको मसल मास लॉस को रोकना है तब भी आपको सभी पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेनी पड़ेगी।

एक संतुलित आहार (Balanced Diet) आपको लेना पड़ेगा जिसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट की मात्रा का अनुपात बेहतर होता हैं।

आपको ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना है कि केवल प्रोटीन की मात्रा को अपनी डाइट में ज्यादा रखना हैं। डाइट में कार्ब्स और हेल्दी फैट्स भी सही मात्रा में होने चाहिए।

यह भी पढ़ें – टॉप 10 मसल बिल्डिंग फूड 

(3) मसल साइज लॉस रोकने के लिए भरपूर नींद लें –

भरपूर नींद लेना सभी के लिए बेहद जरूरी होता हैं। 24 घन्टो में आपको 8 घण्टे की नींद लेना तो बहुत ही जरूरी होता हैं।

यदि आप अच्छे से नींद पूरी नहीं करते है तो इसका विपरीत प्रभाव आपकी पाचन शक्ति पर पड़ता है जिसके कारण आपका मेटाबोलिजम भी बिगड़ जाता हैं।

तो इन सभी को बेहतर बनाने के लिए आपको बेहतर नींद लेनी पड़ेगी। यदि आप बेहतर नींद लेते है तो आपके मसल्स भी अच्छी तरह रिकवर होते हैं। और मसल साइज लॉस की समस्या दूर होती हैं।

निष्कर्ष – आपको बता दें, Muscle Loss या साइज कम होना एकाएक नहीं होता हैं। इसे होने में समय लगता हैं। यदि आप वर्कआउट नहीं करते है और डाइट अच्छी नहीं लेते है तो आपका मसल साइज लॉस हो सकता हैं।

मसल साइज का कम होता हुआ दिखाई देना सीधे तौर पर मसल लॉस नहीं हो सकता। आपके मसल से ग्लाइकोजन लेवल का कम होना भी यह दर्शाता है कि आपका मसल साइज कम हो रहा हैं।

अगर आपने कुछ टाइम से वर्कआउट करना छोड़ दिया है तो डायरेक्टली आपका मसल लॉस होना शुरू नहीं हो जाता हैं। लगातार 1 या 2 महीनों के बाद आपको इसके संकेत मिलते हैं।

आप अपने लाइफस्टाइल और खानपान को अच्छा रखकर भी मसल मास को मैंटेन रख सकते हैं। आपसे निवेदन है कि मसल लॉस को रोकने के लिए किसी भी प्रकार की दवाइयों का इस्तेमाल ना करें।

यह कोई बीमारी नहीं हैं। इसके लिए किसी भी प्रकार की दवाइयों का सेवन आपके लिए नुकसानदेह साबित हो सकता हैं।

उम्मीद है, मसल लॉस क्यो होता हैं और मसल लॉस के कारण (Muscle Loss Reasons in Hindi) क्या है आदि के बारें में सटीक जानकारी आपको मिल गयी होगी। अगर पोस्ट पसन्द आयी है तो इसे Share जरूर करें।

यदि आपके कोई भी सवाल/सुझाव है तो नीचे Comment करके जरूर बताएं और साथ में यह भी बतायें कि यह पोस्ट आपको कैसी लगी। धन्यवाद !!!

Share with your friends...

Leave a Reply