BCA टेस्ट (GYM) क्या होता है ? | BCA Gym Full Form in Hindi

क्या आप भी जानना चाहते है कि, आखिर BCA टेस्ट क्या होता हैं और इसे कैसे करते हैं? तो आज का यह Article आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला हैं।

BCA Test Kya Hai

अगर आप जिम जाते है तो आपने BCA Test के बारें में सुना तो जरूर ही होगा, लेकिन शायद आपको इसके बारें में उपयुक्त जानकारी अभी तक नहीं मिल पायी हैं।

इस टेस्ट के जरिए आप अपनी बॉडी में उपस्थित सभी भागों का अवलोकन या विश्लेषण आसानी से कर सकते है और बॉडी में फैट और मसल मास का प्रतिशत आसानी से पता कर सकते हैं।

तो चलिए जानते है बीसीए बॉडी टेस्ट क्या है (BCA Gym Full Form), इसे कैसे करते हैं और इसके फायदे क्या हैं।

BCA टेस्ट फुल फॉर्म | BCA Gym Full Form in Hindi

BCA – Body Composition Analysis (शरीर रचना विश्लेषण)

BCA टेस्ट क्या होता हैं ? | BCA Test Meaning in Hindi

बीसीए टेस्ट का हिंदी में मतलब – शरीर रचना विश्लेषण होता हैं। यह एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें मांसपेशियों के ऊतकों (Muscle Tissue) और बॉडी फैट की तुलना की जाती हैं।

यह एक जाँच प्रक्रिया होती है और इसमें आपकी बॉडी में मौजूद मसल मास और फैट मास की तुलना की जाती हैं। यह टेस्ट मांसपेशियों की तुलना में वसा के प्रतिशत को निर्धारित करने के लिए एक प्रोसेस होती है, जिसे BCA टेस्ट कहते हैं।

BCA Test यह बताने में सक्षम होता है कि किसी व्यक्ति की बॉडी कितनी फिट या स्वस्थ है, मसल मास कितना है, फैट मास कितना है और पानी की मात्रा कितनी हैं।

इसके साथ ही यह आपके फिटनेस स्कोर को भी बताता है और विश्लेषण के आधार पर आपके BMR और कैलोरी की गणना भी यह करता हैं।

सीधी भाषा में BCA टेस्ट की बात की जाए तो यह आपकी बॉडी में टोटल बॉडी वेट, स्केलेटल मसल मास (SMM), बॉडी फैट मास (BFM), पानी की मात्रा, प्रोटीन की मात्रा, फैट प्रतिशत (PBF), मोटापा (Obesity), Lean Muscle Mass, BMI, BMR और फिटनेस स्कोर के बारें में बताता हैं।

यह टेस्ट बहुत ही फायदेमंद माना जाता है खासकर उन लोगो के लिए जो फिटनेस को अपनी लाइफस्टाइल का हिस्सा समझते है और इस टेस्ट को करना बहुत ही आसान होता हैं। तो चलिए जानते है इसे कैसे करते हैं।

BCA टेस्ट कैसे करते हैं ? | How To Do BCA Test in Hindi

अपने शरीर की संरचना को मापने के लिए सबसे पहले आप Weighing Scale का उपयोग करते है लेकिन यह सिर्फ आपका वजन बताता है न कि आपकी बॉडी में फैट, मसल्स, प्रोटीन, मिनेरल्स कितना है यह बताता हैं।

इसलिए BCA करने की जरूरत पड़ती है क्योंकि यह आपके बॉडी की संरचना (Composition) को मापने के लिए सबसे अच्छा तरीका होता हैं।

यह मुख्यतः फैट मास और मसल मास के विश्लेषण (Analysis) के लिए किया जाता है, लेकिन इसके द्वारा कई अन्य चीजों की जानकारी भी आपको मिल जाती हैं।

BCA टेस्ट एक विशेष प्रकार की मशीन से किया जाता है जिसे साधारणतः BCA Machine या Body Composition Analyzer कहा जाता हैं। आप इस मशीन को अपने जिम (BCA Test In Gym) में देख सकते है और इसका उपयोग कर सकते हैं।

आपको बता दें, यह मशीन सभी जिमों में उपलब्ध नहीं होती है, इसे बहुत कम जिमों में उपयोग किया जाता हैं।

इस मशीन का उपयोग करना बहुत ही आसान होता हैं। यह टेस्ट करने के लिए आपके बॉडी से किसी तरह का खून या सैंपल का उपयोग नहीं किया जाता हैं।

यह सेंसर आधारित मशीन होती है जो आपकी बॉडी के कॉन्टेक्ट (स्पर्श या संपर्क) में आकर पूरे बॉडी का एनालिसिस करती हैं। यह टेस्ट आपके बॉडी के बाह्य भाग से ही किया जाता हैं।

BCA Body Test करने के लिए आपको मशीन की सहायता लेनी पड़ती है, जिसमें आपके हाथों और पैरों के संपर्क में यह मशीन आती है और आपके बॉडी का विश्लेषण करती हैं।

यह जाँच प्रक्रिया 5 से 10 मिनट के बीच की होती है और तुरंत आपको इसका रिजल्ट (रिपोर्ट) भी मिल जाता हैं।

इसके अलावा BCA टेस्ट करने के लिए Calipers, Hydrostatic Weighing, DXA आदि जाँच प्रक्रिया का उपयोग किया जाता है लेकिन BCA टेस्ट मशीन इन सभी जाँच प्रक्रिया में सबसे बेहतर मानी जाती हैं।

इसलिए क्योंकि यह मशीनीकृत होती है और किसी भी प्रकार के कैलकुलेशन करने की जरूरत आपको नहीं पड़ती है और यह सभी चीजों के बारें में एक ही जाँच में बता देती हैं।

BCA टेस्ट के फायदे | Benefits Of BCA Test in Hindi

यह टेस्ट किसी भी प्रकार के फिटनेस गोल (Weight Loss/Gain) को प्राप्त करने के लिए बहुत ही मददगार होता हैं। यदि आप नॉर्मल जिम करते है या फिर बॉडीबिल्डिंग करते है तब यह आपके बॉडी कम्पोजीशन को मापने के लिए सबसे बेहतर तरीका होता हैं।

BCA टेस्ट के फायदे बहुत से है, जिसे हम कुछ पॉइंट्स की सहायता से जानते हैं।

(1) इसका सबसे बड़ा फायदा, यह आपकी बॉडी में मौजूद फैट और मसल की मात्रा को आसानी से Measure करके बता देता हैं।

(2) यह टेस्ट शरीर संरचना (Body Composition) और मोटापा मूल्यांकन (Obesity Diagnosis) में मदद करता हैं।

(3) इसकी सहायता से आप मसल-फैट कंट्रोल का पता लगा सकते है कि, आपको कितना फैट कम या ज्यादा करना है और कितना मसल और बढ़ाना हैं।

(4) BCA Test आपको एक एक्सरसाइज प्लानर भी बना के देता है, जिसकी मदद से आप अपने फिटनेस गोल को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

(5) यह आपकी बॉडी का Nutritional Evaluation और Weight Management का विश्लेषण आसानी से कर देता हैं।

(6) इसकी सहायता से आपको पता चल जाता है कि आपकी बॉडी में कितना प्रोटीन, फैट और मिनेरल्स मौजूद हैं।

(7) यह आपके वेट लॉस करने की Journey को और अधिक सरल बना देता हैं। इसलिए क्योंकि यह आपके आंत के फैट (Visceral Fat), Segmental Fat और Obesity का एनालिसिस करता हैं।

(8) BCA की सहायता से आप बॉडी में टोटल बॉडी वाटर, मेटाबोलिक रेट (BMR) और बॉडी मास इंडेक्स (BMI) का पता आसानी से लगा सकते हैं।

(9) इसकी मदद से आप फैट को आसानी से कम कर सकते है और मसल मास को बढ़ा सकते हैं। इसके साथ ही यह आपके बॉडी में मौजूद फैट फ्री मास को भी बताता हैं।

(10) BCA आपको अपनी आवश्यकताओं के अनुरूप अपने वर्कआउट और डाइट को अनुकूलित करने में मदद करता हैं।

(11) यह आपको कितनी कैलोरी खाना है और कितनी बर्न (जलाना) है, इसके बारें में जानकारी देता हैं।

(12) इसकी मदद से आप Weekly एक्सरसाइज या वर्कआउट प्लान भी तैयार कर सकते हैं। यह टेस्ट आपको सभी प्रकार की गतिविधियों में कितनी कैलोरी बर्न होगी यह भी बताता हैं।

(13) अन्ततः यह आपके बॉडी का विश्लेषण करके आपका फिटनेस स्कोर भी बताता है, कि आप कितने फिट हैं।

इसप्रकार BCA करने से आप अपने बॉडी की संरचना के बारें में आसानी से जान सकते हैं। यदि आप फिट रहना चाहते है तो आपको नियमित रूप से हर महीने BCA करवाना चाहिए।

BCA टेस्ट करने का सबसे सही समय | Best Time For BCA Test in Hindi

इस टेस्ट को करना बहुत ही आसान होता है और आप इसे किसी भी समय पर कर सकते हैं। आप इसे सुबह, दोपहर, शाम या जब आपको समय मिले, तब कर सकते हैं।

लेकिन आपको बता दें, किसी भी चीज को करने का एक उपयुक्त समय होता है, जो उसके लिए सबसे अच्छा समय होता हैं।

रिसर्च और फिटनेस एक्सपर्ट्स के अनुसार BCA टेस्ट करने का सबसे अच्छा समय – सुबह (खाली पेट) होता हैं।

सुबह के समय बीसीए करना सबसे बेहतर माना जाता हैं। इसलिए क्योंकि इस समय आपकी बॉडी एक Ideal State में होती हैं।

आप इसे दिन के किसी भी समय कर सकते है परंतु सुबह के समय करना सबसे अधिक प्रभावी और सटीक होता हैं।

यह भी पढ़ें – 12-Week ट्रांसफॉर्मेशन प्रोग्राम क्या होता हैं ?

BCA टेस्ट करने से पहले क्या नहीं करना चाहिए ? | What Should Avoid Before BCA in Hindi

अब बात आती है, BCA तो करना है लेकिन इसके लिए आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। जिससे कि आपकी BCA रिपोर्ट सही आएं।

आपको बता दें, BCA करने के लिए सबसे पहले आपको ध्यान रखना है कि, आपकी बॉडी पूरी तरह फ्रेश होनी चाहिए और आराम की स्थिति में होनी चाहिए।

और भी कुछ बातें है जो एक बेहतर BCA के लिए जरूरी होती हैं। ध्यान रखने योग्य बातें जैसे –

(1) BCA टेस्ट करने से पहले आपका पेट पूरी तरह खाली होना चाहिए।

(2) इस टेस्ट को करने से पहले वर्कआउट बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।

(3) टेस्ट के पहले (लगभग 1 घंटे पहले) पानी बिल्कुल भी नहीं पीना चाहिए।

(4) इस टेस्ट के पहले खाना बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए। BCA करवाते समय आपका पेट पुरा खाली होना चाहिए।

(5) किसी भी प्रकार की चाय या कॉफी या जूस पीकर इस टेस्ट को नहीं करवाना चाहिए।

अगर इन सभी बातों का आप ध्यान रखते है और बीसीए टेस्ट करवाते है तो आपका एनालिसिस सटीक और बेहतर परिणाम वाला आता हैं।

इससे आपके बॉडी की संरचना का सही से पता लगाया जा सकता हैं। यदि आप खाना खाकर या पानी पीकर या वर्कआउट के बाद इसे करते है तो आपकी रिपोर्ट गलत आने की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है और ऐसा करना गलत हैं।

अगर आप सही BCA जाँच करना चाहते है तो आप सुबह बिना कुछ खाएं, फ्रेश होकर टेस्ट करवाएं।

BCA टेस्ट कितने में होता हैं ? | BCA Test Cost or Price in India

Body Composition Analysis करने के लिए आपको अधिक पैसे खर्च करने की जरुरत नहीं होती हैं।यह टेस्ट कम पैसो में हो जाता है, आप इसे किसी फिजिशियन या डॉक्टर के पास करवा सकते है लेकिन वहां आपको थोड़े ज्यादा पैसे खर्च करने पड़  सकते हैं। इसलिए क्योंकि डॉक्टर्स परामर्श फीस भी जोड़ देते हैं।

यदि आप इसे अपने बजट में करवाना चाहते है तो आप अपने आसपास के किसी अच्छे  GYM में जा सकते है, वहां पर आपको पैसे भी कम ही लगेंगे और आपके कुछ पैसे भी बच जायेंगे।

अपने देश में बीसीए टेस्ट करने के लिए जिम (BCA Test In Gym) में आपको सामान्यतः 300 से 1000 रूपये खर्च करने पड़ सकते हैं। यह नॉर्मल टेस्ट होता है और इसके अलावा यदि आप लैब जाकर बॉडी स्कैनिंग करवाते है तो आपको अधिक पैसे खर्च करने पड़ेंगे।

यह भी पढ़ें – वर्कआउट के समय कितना पानी पीना चाहिए ?

निष्कर्ष – BCA टेस्ट बहुत ही फायदेमंद होता है, आपके बॉडी की संरचना के बारें में जानने के लिए। इसके साथ ही यह आपको वर्कआउट और कैलोरी के बारें में भी जानकारी देता हैं।

मुझे उम्मीद है, BCA टेस्ट इन फिटनेस क्या है और BCA कैसे करते है, इसके बारें में पूरी जानकारी आपको अच्छे से समझ आ गयी होगी। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ फेसबुक या व्हाट्सएप ग्रुप पर Share भी कर सकते हैं।

यदि आपके कोई भी सवाल/सुझाव है तो नीचे Comment करके जरूर बताए और साथ में यह भी बताए कि यह पोस्ट आपको कैसी लगी। धन्यवाद !!!

Share करें !

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *